विदेश में पढ़ाई के लिए 1.50 करोड़ की मदद कर रहा है एसबीआई, जानि‍ए कैसे उठाएं फायदा

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की ओर से एक एजुकेशन लोन की शुरूआत की गई है। जिसका नाम एसबीआई ग्लोबल एड-वैंटेज है। यह लोन सुविधा खासकर उन स्‍टूडेंट्स के लिए है जो विदेशी कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में रेगुलर स्‍टडी करना चाहते हैं।

Education Loan, Education Loan for abroad studies कोरोना काल में भी विदेशी में पढाई करने वालों की संख्‍या में गिरावट नहीं आई है। इसका कारण है कि खर्च को पूरा करने के लिए कई ऑप्‍शन अवेलेबल हैं। (Photo By Financial Express)

विदेश में पढ़ाई के लिए देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की ओर से एक एजुकेशन लोन की शुरूआत की गई है। जिसका नाम एसबीआई ग्लोबल एड-वैंटेज है। यह लोन सुविधा खासकर उन स्‍टूडेंट्स के लिए है जो विदेशी कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में रेगुलर स्‍टडी करना चाहते हैं। अपने करियर के टारगेट को पूरा करने के लिए विदेशी एजुकेशन का ट्रेंड देखने को मिल रहा है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखि‍र एसबीआई के इस एजुकेशन लोन की क्‍या विशेषताएं हैं।

इस लोन के तहत आने वाले लोन कोर्स
इस लोन के तहत स्‍टूडेंट्स रेगुलर ग्रेजुएट डिग्री, पोस्‍ट ग्रेजुएट डिग्री़, डिप्लोमा, सर्टिफ‍िकेट एवं डॉक्‍ट्रेट कोर्स की पढ़ाई कर सकते हैं। इस कोर्स की पढ़ाई करने के लिए अमरीका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, यूरोप, जापान, सिंगापुर, हांगकांग और न्यूजीलैंड के कॉलेजों एवं यूनिवर्सिटीज से किसी भी विषय में इन पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ा सकते हैं।

लोन से संबंधि‍त खास बातें
लोन अमाउंट :
व्यक्ति 7.50 लाख से 1.50 करोड़ रुपए तक के इस लोन का लाभ उठा सकते हैं।
ब्याज दर : एसबीआई महिला आवेदकों के लिए विशेष 0.50 फीसदी रियायत के साथ 8.65 फीसदी ब्याज दर दे रहा है।
रीपेमेंट : पाठ्यक्रम पूरा होने के 6 महीने बाद से लोन चुकाना शुरू हो जाएगा और अधि‍कतम 15 सालों तक चुकाना होगा।

एजुकेशन लोन में कवर होंगे यह खर्च

  • ट्रैवल एक्‍सपेंस या पैसेज मनी
  • ट्यूशन फीस
  • एग्‍जाम/लाइब्रेरी/लैब फीस
  • बुक्‍स/इक्विपमेंट्स/इंट्रूमेंट्स/यूनिफॉर्म/कंप्यूटर फीस उचित कीमत पर
  • प्रोजेक्‍ट वर्क/थीसिस/स्‍टडी टूर जैसी अतिरिक्त आवश्यकताओं की लागत (कुल ट्यूशन फीस के 20 फीसदी से ज्‍यादा नहीं)
  • अन्य खर्च जैसे कॉशन डिपॉजिट/बिल्डिंग फंड/संस्था के बिलों/रसीदों द्वारा समर्थित रिफंडेबल डिपॉजिट (कुल ट्यूशन फीस के 10 फीसदी से अधिक नहीं)

विशेषताएं एवं फायदे

  • एसबीआई की वेबसाइट के माध्यम से सुविधाजनक और तेज़ ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया
  • आवेदक ‘अभी आवेदन करें’ पर क्लिक कर सकते हैं, आवश्यक विवरण भर सकते हैं और आवेदन प्रक्रिया जमा कर सकते हैं
  • प्रारंभिक ऋण स्वीकृति: छात्र के I-20 / वीजा से पहले लोन अप्रूवल किया जाएगा।
  • आयकर अधिनियम की धारा 80(ई) के तहत टैक्‍स बेनिफिट
  • कॉलेज/स्कूल/छात्रावास को पेयेबल फीस

आवेदन प्रक्रिया के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • कक्षा 10वीं, 12वीं और स्नातक की मार्कशीट एवं एंट्रेस एग्‍जाम का रिजल्‍ट
  • प्रवेश के प्रमाण के रूप में यूनिवर्सिटी से प्रवेश पत्र/प्रस्ताव पत्र/आईडी कार्ड
  • पाठ्यक्रम के लिए खर्च की अनुसूची
  • स्‍कॉलरश‍िप, फ्री-शिप आदि प्रदान करने वाले लेटर्स की कॉपी।
  • गैप सर्टिफि‍केट, यदि लागू हो
  • छात्र/माता-पिता/सह-उधारकर्ता/गारंटर की पासपोर्ट साइज फोटो (प्रत्येक की 1 कॉपी)
  • सह-आवेदक/गारंटर का असेट लायबिलिटी स्‍टेटमेंट (7.50 लाख से अधिक लोन पर होगा लागू)

सैलरीड लोगों के लिए
(ए) लेटेस्‍ट सैलरी स्लिप
(बी) फॉर्म 16 या लेटेस्‍ट रिटर्न

वेतनभोगी लोगों के अलावा अन्य के लिए
(ए) बिजनेस अड्रेस प्रूफ
(बी) लेटेस्‍ट आईटी रिटर्न (यदि लागू है तो)

  • माता-पिता/अभिभावक/गारंटर के पिछले छह महीनों का बैंक अकाउंट स्‍टेटमेंट
  • कोलैटरल सिक्‍योरिटी के रूप में प्रस्तावित अचल संपत्ति के संबंध में सेल डीड और संपत्ति के अन्य दस्तावेजों की प्रति की फोटोकॉपी
  • छात्र/माता-पिता/सह-उधारकर्ता/गारंटर का पैन कार्ड
  • आधार कार्ड (अनिवार्य, यदि भारत सरकार की विभिन्न ब्याज सब्सिडी योजनाओं के तहत पात्र है)
  • पासपोर्ट
  • पहचान और पते के प्रमाण के रूप में आधिकारिक रूप से वैध दस्तावेज जमा करना
  • पासपोर्ट/ड्राइविंग लाइसेंस/मतदाता पहचान पत्र