विराट कोहली के सपोर्ट में उतरे पाकिस्तान के सलमान बट्ट, माइकल वॉन की कर दी बेइज्जती

वॉन ने कोहली के बारे में कहा था कि वे महान खिलाड़ी हैं। वे सिर्फ सोशल मीडिया के कारण फेमस हैं। वॉन के इस बयान पर वसीम जाफर ने उनका मजाक उड़ाया था।

Salman Butt, Michael Vaughan, Virat Kohli

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन द्वारा भारतीय कप्तान विराट कोहली पर दिए गए बयान को लेकर मामला बढ़ता ही जा रहा है। वॉन ने कोहली के बारे में कहा था कि वे महान खिलाड़ी नहीं हैं। वे सिर्फ सोशल मीडिया के कारण फेमस हैं। वॉन के इस बयान पर वसीम जाफर ने उनका मजाक उड़ाया था। अब पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट्ट ने भी उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया। सलमान ने कहा कि विराट कोहली के इंटरनेशनल क्रिकेट में 70 शतक हैं। वॉन ने तो वनडे में भी एक भी शतक नहीं लगाया है।

सलमान ने वॉन के बारे में कहा कि वे बल्लेबाजी में कुछ खास ने थे। अपने यूट्यूब चैनल पर बट्ट ने कहा, ‘‘कोहली ऐसे देश से आते हैं, जहां की जनसंख्या बहुत ज्यादा है। कोहली का प्रदर्शन शानदार रहा है। उन्होंने इंटरनेशनल करियर में 70 शतक जड़े हैं। मौजूदा दौर में किसी भी बल्लेबाज के नाम इतने शतक नहीं हैं। कोहली ने अपने प्रदर्शन के दम पर बल्लेबाजों की रैंकिंग में अपना दबदबा बनाए रखा। ऐसे में तुलना क्यों की जाए, ये मुझे समझ नहीं आता।’’ विराट टेस्ट रैंकिंग में 5वें और विलियमसन पहले स्थान पर हैं। वनडे में कोहली दूसरे और विलियमसन 12वें पायदान पर हैं। वहीं, टी20 की बात करें तो 5वें और विलियमसन 34वें नंबर पर हैं।

सलमान ने आगे कहा, ‘‘तुलना भी कौन कर रहा है- माइकल वॉन। वह इंग्लैंड के लिए बेहतरीन कप्तान थे, लेकिन उनकी बल्लेबाजी कोई खास नहीं थी। वह टेस्ट में अच्छे बल्लेबाज थे, लेकिन वनडे में तो उनके नाम एक शतक भी नहीं है। अगर ओपनर होने के बाद भी आप शतक नहीं बनाए, तो चर्चा करने का कोई फायदा नहीं है।’’ माइकल वॉन ने 82 टेस्ट मैचों में 18 शतक लगाए थे।

ऐसा नहीं है कि सलमान बट्ट के बयान पर वॉन ने पलटवार नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने देखा है कि सलमान ने मेरे बारे में क्या कहा है… यह ठीक है और उन्हें अपनी राय रखने की अनुमति है, लेकिन काश 2010 में मैच फिक्सिंग के दौरान उनके दिमाग में ऐसा स्पष्ट विचार होता। वह यह बताना भूल गए कि मैं मैच फिक्सर नहीं रहा हूं। किसी और की तरह हमारे महान खेल को भ्रष्ट नहीं कर रहा हूं।’’ सलमान बट्ट 2010 में मैच फिक्सिंग में फंसे थे तब उन पर बैन लगा दिया गया था।