वैक्सीन की कमी पर एंकर ने दी नसीहत तो बोले आप नेता- आईपीसी से नहीं मोदी पीनल कोड से चल रहा देश

आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 90 करोड़ देशों में 7 करोड़ वैक्सीन एक्सपोर्ट की जिसमें नाइजीरिया, ओमान, बांग्लादेश शामिल थे।

corona, vaacine, tv debate

देशभर में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। सरकार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान देशभर में चला रही है। हालांकि कुछ राज्यों ने अपने यहां वैक्सीन की कमी की बात भी कही है। इसी बीच टीकाकरण अभियान से जुड़ा एक विवादित पोस्टर शेयर करने पर दिल्ली पुलिस ने करीब 25 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इसी मुद्दे पर एक टीवी डिबेट के दौरान आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश इंडियन पीनल कोड नहीं मोदी पीनल कोड से चल रहा है।

दरअसल आजतक न्यूज चैनल पर आयोजित टीवी डिबेट के दौरान एंकर सईद अंसारी ने आप प्रवक्ता राघव चड्ढा को नसीहत देते हुए कहा कि पहले आप लोग शिकायत कर रहे थे कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी है लेकिन आज आपके यहां ऑक्सीजन सरप्लस हो गया है और आप लोग कह रहे हैं कि अब दूसरे राज्यों को दिया जाए। आगे सईद अंसारी ने कहा कि यह अच्छी बात है, हो सकता है कि इसी तरह किसी दिन कोरोना टीका भी आपके यहां सरप्लस हो जाए।  

इसपर जवाब देते हुए आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि हर सरकार का कर्तव्य होता है कि वह सारी जानकारी पारदर्शी तरीके से लोगों तक पहुंचाए। आगे राघव चड्ढा ने विवादित पोस्टर वाले मामले को लेकर कहा कि आज जिस पोस्टर वार की बात हो रही है उसमें कई गरीब और निर्दोष लोगों को पकड़ा गया है। आज ऐसा लगता है कि देश इंडियन पीनल कोड से नहीं बल्कि मोदी पीनल कोड से चल रहा है। ऐसी स्थिति बन गई है कि प्रधानमंत्री जी से कुछ पूछा नहीं जा सकता है।

आगे राघव चड्ढा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 90 करोड़ देशों में 7 करोड़ वैक्सीन एक्सपोर्ट की जिसमें नाइजीरिया, ओमान, बांग्लादेश शामिल थे। अगर ये 7 करोड़ वैक्सीन बंबई और दिल्ली की जनता को लग जाती तो कोरोना का संक्रमण इन जगहों पर नहीं रह पाता। इसके अलावा राघव चड्ढा ने कहा कि आज अगर हम केंद्र सरकार को सुझाव भी देते हैं तो कहा जाता है कि हम राजनीति कर रहे हैं। भारत सरकार ने वैक्सीन बनाने वाली दोनों कंपनियों को उचित आर्डर भी नहीं दिया है जिससे टीकाकरण प्रभावित हो रहा है।

बता दें कि गुरुवार को दिल्ली पुलिस को एक विवादित पोस्टर के बारे में सूचना मिली थी। पोस्टर में प्रधानमंत्री मोदी के टीकाकरण अभियान की आलोचना की गई थी। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने करीब 25 लोगों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 188, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने समेत कई अन्य धाराओं में शिकायत दर्ज की थी।