वो तो इनकम टैक्स के छोटे नोटिस से भी डर जाते हैं- जब अमर सिंह ने अमिताभ को कह दिया था डरपोक, जानिये क्या था मामला

पनामा पेपर में अमिताभ का नाम उछलने के बाद जब बीबीसी ने अमर सिंह से इस बारे में सवाल किय़ा था तो उन्होंने कहा था, ‘अब हमारे रिश्ते अमिताभ जी से पहले जैसे तो नहीं रहे,..

Amitabh Bachchan, Amar Singh, अमर सिंह, अमिताभ बच्चन, Amar Singh Taunt On Amitabh Bachchan,

दिवंगत राजनेता अमर सिंह और बच्चन परिवार की दोस्ती जग-जाहिर थी। अमर सिंह ने अमिताभ की तब मदद की थी, जब वे अपने बुरे दौर से गुजर रहे थे। हालांकि जब दोनों के रिश्तों में खटास आई तो अमर सिंह, बिग बी को भला-बुरा कहने से भी नहीं चूके। ऐसा ही एक मौका तब आया था जब अमिताभ का नाम पनामा पेपर्स में आया था। तब अमर सिंह ने उन्हें डरपोक करार दे दिया था और कहा था कि वे (अमिताभ बच्चन) तो आयकर विभाग के एक छोटे से नोटिस से डर जाते हैं।

पनामा पेपर में अमिताभ का नाम उछलने के बाद जब बीबीसी ने अमर सिंह से इस बारे में सवाल किय़ा था तो उन्होंने कहा था, ‘अब हमारे रिश्ते अमिताभ जी से पहले जैसे तो नहीं रहे, लेकिन उनके बारे में एक बात मैं जरूर कह सकता हूं कि अमिताभ बच्चन बहुत डरपोक हैं। उनकी जो एंग्री यंग मैन वाली स्क्रीन इमेज है, वो आयकर विभाग के सामान्य अधिकारी की छोटी सी नोटिस से डगमगा जाती है।’

अमर सिंह ने यह भी कहा था कि आर्थिक प्रबंधन के मामले में उनका (अमिताभ का) ज्ञान शून्य है, तो हो सकता है कि उनका सीए या आर्थिक प्रबंधन करने वाला फर्जी तरीके से उनका हस्ताक्षर ले लिया हो या उन्हें फंसाया जा रहा हो। हालांकि अमर सिंह ने अमिताभ बच्चन के उपर पनामा पेपर मामले में सीधे-सीधे कोई आरोप नहीं लगाया था।

जिगरी दोस्त थे अमिताभ-अमर: एक जमाने में अमिताभ बच्चन और अमर सिंग जिगरी दोस्त हुआ करते थे। यहां तक कि अमिताभ के दोनों बच्चों की शादी के कार्ड में अमर सिंह का नाम परिवार के सदस्य के रूप में दर्ज था। बाद में दोनों के रिश्तों में खटास आ गई थी। अमर सिंह ने इसके लिए अमिताभ की पत्नी जया बच्चन को जिम्मेदार ठहराया था।

बाद में मांग ली थी बच्चन परिवार से माफी: दोस्ती में दरार आने के बाद अमर सिंह बच्चन परिवार के खिलाफ अक्सर हमलावर दिखे। हालांकि आखिरी दिनों में उन्होंने अमिताभ बच्चन और उनके परिवार के खिलाफ दी गई प्रतिक्रिया के लिए माफी मांग ली थी।

क्या है पनामा पेपर मामला? पनामा पेपर में ऐसे व्यक्तियों का नाम लीक हुआ था, जो अपना काला धन विदेशों खासकर टैक्स हैवन माने जाने वाले देशों में रखते हैं या वहां काला धन को सफेद करने की गतिविधियों में संलिप्त हैं। पनामा पेपर में कथित तौर पर अमिताभ बच्चन और उनकी बहू ऐश्वर्या राय का नाम भी आया था। हालांकि अमिताभ बच्चन ने सभी आरोपों को नकार दिया था और कहा था कि उनके नाम का गलत इस्तेमाल किया गया है।