शराबियों की हिमायत में पति समेत थाने में धरने पर बैठ गईं कांग्रेस की विधायक, बोलीं- बच्चे तो शराब पीते ही हैं

पुलिस ने कथित तौर पर शराब पीकर गाड़ी चलाने के आरोप में कुछ लोगों को पकड़ा था, लेकिन कांग्रेस विधायक इन बच्चों को छुटवाने के लिए थाने में धरना देने आ गईं ।

Meena Kanwar कांग्रेस विधायक मीना कंवर का कहना है कि मैंने पुलिस से अपने रिश्तेदार के बेटे और उनके साथ रहने वालों को रिहा करने का अनुरोध किया था, लेकिन वे नहीं माने। (फोटो- वायरल वीडियो/स्क्रीनशॉट)

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें राजस्थान के जोधपुर जिले की शेरगढ़ विधानसभा से कांग्रेस विधायक मीना कंवर थाने में धरने पर बैठी दिख रही हैं। उनके साथ पति उम्मेद सिंह चंपावत और परिजन भी मौजूद हैं।

दरअसल पुलिस ने कथित तौर पर शराब पीकर गाड़ी चलाने के आरोप में कुछ लोगों को पकड़ा था, लेकिन कांग्रेस विधायक इन बच्चों को छुटवाने के लिए थाने में धरना देने आ गईं और उन्होंने कहा कि सभी बच्चे पीते हैं।

कांग्रेस विधायक मीना कंवर का कहना है कि मैंने पुलिस से अपने रिश्तेदार के बेटे और उनके साथ रहने वालों को रिहा करने का अनुरोध किया था, लेकिन वे नहीं माने। पुलिस ने मेरे और मेरे पति के साथ दुर्व्यवहार किया। मैं संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करती हूं। एसपी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

वहीं लोगों का कहना है कि पुलिस ने युवक को रोका तो वह राजनीतिक रसूख झाड़ रहा था। इसके बाद पुलिस ने उसका चालान काट दिया। इसी बात से नाराज होकर कांग्रेस विधायक थाने पहुंच गईं और धरने पर बैठ गईं।

मिली जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस विधायक बच्चे की गलती को नहीं मान रही थीं और युवक के शराब पीने को ये तर्क देकर सही ठहराने की कोशिश कर रही थीं कि सभी के बच्चे पीते हैं, कोई बात नहीं, बच्चे हैं, क्या फर्क पड़ता है, अगर थोड़ा बहुत ले लिया…!

ट्विटर यूजर लोकेश सिंह ने ये वीडियो पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा कि जनसेवा हो तो ऐसी!! गजब है!! सबके बच्चे लेते हैं। थोड़ी बहुत शराब पी ली तो क्या दिक्कत है। बेचारे शराबी रिश्तेदार के चालान से नाराज विधायक थाने में बैठ गईं। मैडम राजस्थान कांग्रेस की MLA हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस मुद्दे को लेकर थाने में विधायक के पति और पुलिसकर्मियों के बीच तीखी बहस भी हुई है, वहीं विधायक के पति पर ये आरोप लग रहा है कि उन्होंने थाने में जाने से पहले पुलिसकर्मियों को धमकाया भी था।