‘शादी नहीं हो सकती’, जब अभिषेक की शादी को लेकर सामने आई थी खबरें, अमिताभ बच्चन ने कुछ इस अंदाज में दिया था जवाब

अभिषेक बच्चन की शादी से पहले खबरों में दिखाया गया था कि एक्टर मांगलिक हैं, जिससे की उनकी शादी नही हो सकती या फिर शादी में अर्चनें आ सकती हैं। ऐसे में अमिताभ बच्चन ने इस तरह की खबरों पर कटाक्ष कर जवाब दिया था।

Amitabh Bachchan, Aishwarya Rai Bachchan, Abhishek अमिताब बच्चन बेटे और एक्टर अभिषेक बच्चन के साथ (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस आरकाइव)

अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन की शादी बॉलीवुड की सबसे महंगी और चर्चित शादियों में से एक रही। बच्चन परिवार की इस शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर लीक न हो इस बात का भी खास खयाल रखा गया था। ऐसे में लोगों में इस शादी को लेकर और जिज्ञासा देखने को मिली थी।

कई दिनों पहले ही ऐश-अभिषेक की शादी की चर्चा शुरू हो गई थी। वहीं कई रिपोर्ट्स में दिखाया गया था कि अभिषेक बच्चन मांगलिक हैं, जिससे की उनकी शादी नही हो सकती या फिर शादी में अर्चनें आ सकती हैं। ऐसे में अमिताभ बच्चन ने इस तरह की खबरों पर कटाक्ष कर जवाब दिया था।

द आरकेबी शो में जब अभिषेक बच्चन को लेकर पिता और बॉलीवुड इंडस्ट्री के महानायक अमिताभ बच्चन से सवाल किया गया था तब बिग बी ने बड़े सीधे शब्दों में मीडिया को जवाब दिया था। अमिताभ बच्चन ने कहा था- ‘सबसे पहले तो कहा गया कि वो मांगलिक हैं, फिर कहा गया कि हॉरोस्कोप खराब है। शादी नहीं हो सकती। शादी करनी होगी तो पहले उन्हें किसी पेड़ से शादी करनी होगी। फिर उन्होंने पेड़ के साथ शादी भी करवा दी। फिर कहा गया कि ये तो बार-बार मंदिर जा रहे हैं, इसी वजह से ऐसा कर रहे हैं ताकि मांगलिक दोष दूर हो जाए।’

अमिताभ बच्चन ने कहा था- ‘इन बातों में कुछ भी सत्य नहीं है, सब कुछ झूठ है। हमने आज तक उनकी जन्म पत्री नहीं देखी है, और न ही हमने मांगी है। न ही हम देखना चाहेंगे। हमें ये भी नहीं मालूम कि मांगलिक होता क्या है? मांगलिक दोष हटाया कैसे जाता है? ये हमारी अभिलाषा है कि हम जाएं मंदिर।’

अमिताभ ने आगे कहा था- ‘अब अगर मीडिया हमको खदेड़ेगी वहां पर और उसका प्रचार करेगी तो लोग तो सच समझेंगे ही। तो फिर जाहिर है कि उनके मनो में सवाल उठते हैं। फिर आप लोग भी उसको अच्छे से सजा कर के, बैकग्राउंड म्यूजिक दे कर के, स्लोमोशन के साथ पेश करते हैं।’

तंज भरे अंदाज में बिग बी ने कहा था- ‘हमारा और आपका व्यवसाय, उसमें जरा भी फर्क नहीं है। हम भी वही चीज करते हैं जो आप लोग करते हैं। हम कहानी बनाते हैं, आपको भी कहानी बनानी पड़ती है। आप भी बैठते होंगे सोचतने के लिए भई ये मंदिर जा रहा है, इसके पीछे क्या बैकग्राउंड डाल सकते हैं। किस शॉट को हमको स्लो मोशन करके दिखाना चाहिए, ताकि देखने वाले पर असर ज्यादा हो। हम भी यही करते हैं। सीन को बार बार दिखाय़ा जाता है कि जो विवाद है उससे परेशान हैं ये। ये खेल है सब।’