शूटिंग के वक्त डायलॉग भूलने पर डांट सुन रो पड़ीं थीं रीना रॉय, हुआ ऐसा असर कि हाथ से निकल गई थीं कई फिल्में

रीना रॉय बी आर इशारा की फ़िल्म, ‘नई दुनिया नए लोग’ में काम कर रहीं थीं। बी आर इशारा ने जिस लोकेशन का चुनाव किया था वहां एक रेलवे लाइन था जहां से दिन में सिर्फ एक बार एक ट्रेन गुजरती थी।

reena roy, reena roy movies, B R Ishara रीना रॉय बी आर इशारा की डांट सुन रो पड़ीं थीं (Photo-File)

बॉलीवुड अभिनेत्री रीना रॉय ने 70 और 80 के दशक के खूब लोकप्रियता बटोरी। लेकिन करियर के शुरुआत में उन्हें कुछ बुरे अनुभव हुए। जिस साल उन्होंने बॉलीवुड में डेब्यू किया, उसी साल एक साथ उन्हें कई फ़िल्मों में काम करने का मौका मिला था। साल था 1972, वो अन्य फ़िल्मों के साथ-साथ बी आर इशारा की फ़िल्म, ‘नई दुनिया नए लोग’ में काम कर रहीं थीं।

इस फ़िल्म का एक सीन बेंगलुरु से 50 मील की दूरी पर एक जंगल में शूट किया जाना था। अभिनेता अनु कपूर ने इस किस्से का ज़िक्र अपने रेडियो शो, ‘सुहाना सफर विद अनु कपूर’ में करते हुए बताया था कि बी आर इशारा ने जिस लोकेशन का चुनाव किया था वहां एक रेलवे लाइन था जहां से दिन में सिर्फ एक बार एक ट्रेन गुजरती थी।

बी आर इशारा चाहते थे कि ट्रेन को बैकग्राउंड में रखते हुए सीन की शूटिंग पूरी हो। ये थोड़ा मुश्किल था क्योंकि दिन में ट्रेन सिर्फ एक बार गुजरती थी इसलिए अभिनेत्री रीना रॉय और अभिनेता सत्येन को एक ही टेक में शॉट पूरा करना था। फ़िल्म का बजट ज्यादा नहीं था इसलिए वहां दूसरे दिन आना भी संभव नहीं था। बी आर इशारा ने रीना रॉय और सत्येन को अच्छे से समझा दिया कि हमें एक ही टेक में शॉट पूरा करना है जब ट्रेन यहां से गुजरेगी। इसलिए दोनों अपने डायलॉग्स अच्छे से याद कर लें।

दोनों ने साथ मिलकर काफ़ी रिहर्सल किया और डायलॉग कंठस्त कर लिया। रीना रॉय, सत्येन तैयार हुए और सब ट्रेन के आने का इंतजार करने लगे। जब ट्रेन की आवाज़ सुनाई दी तब कैमरा ऑन कर दिया गया। रीना रॉय और सत्येन ने शूटिंग शुरू की। तभी रीना रॉय अपने डायलॉग भूल गईं।

वो इंडस्ट्री में अभी नई ही थीं और वो एक टेक में परफेक्ट शॉट देने का दबाव नहीं झेल पाईं, डायलॉग भूल गईं। रीना रॉय बिन बोले देर तक खड़ी रहीं और ट्रेन गुजर गई। यह देख बी आर इशारा बेहद नाराज़ हुए। उनके समझाने के बावजूद रीना ने गलती की जिस कारण उन्होंने रीना को खूब डांटा। डांट सुनकर रीना रोने लगीं। यह बात मुंबई पहुंचीं जिसका रीना के शुरुआती करियर पर काफ़ी बुरा असर हुआ। कई फ़िल्मों से उन्हें निकल दिया गया।

लेकिन रीना रॉय के अंदर अभिनय की प्रतिभा थी जिसका उन्होंने लोहा मनवाया। साल 1973 में आई फ़िल्म, ‘जैसे को तैसा’ से उन्हें पहली बार लोकप्रियता हासिल हुई। इसके बाद साल 1975 में आई फ़िल्म, ‘जख्मी’ ने उन्हें और लोकप्रिय बनाया। शत्रुघ्न सिन्हा के साथ रीना रॉय की जोड़ी ने कई सुपरहिट फिल्में दीं जिनमें कालीचरण, जानी दुश्मन, गौतम गोविंदा, नसीब, विश्वनाथ, मुकाबला, हीरा मोती आदि लोकप्रिय हैं।