‘शोले’ का एक सीन शूट करने में अमिताभ बच्चन को लग गए थे 3 साल, 28 मील पैदल चलकर गए थे धर्मेंद्र

हेमा मालिनी और शोले फिल्म के डायरेक्टर रमेश सिप्पी स्पेशल एपिसोड ‘शानदार शुक्रवार’ में आएंगे। इस बीच फिल्म ‘शोले’ के ढेरों किस्से बाहर निकल कर आएंगे।

KAUN BANEGA CROREPATI, KBC 13, Hema Malini, Amitabh B धर्मेंद्र और हेमा मालिनी फिल्म शोले में (फोटो सोर्स- रमेश सिप्पी फिलम्स)

एवरग्रीन फिल्म ‘शोले’ को रिलीज हुए 46 साल पूरे होने वाले हैं। इसका जश्न केबीसी सीजन 13 में अमिताभ बच्चन मनाते नजर आएंगे। ऐसे में शो पर हेमा मालिनी और शोले फिल्म के डायरेक्टर रमेश सिप्पी स्पेशल एपिसोड ‘शानदार शुक्रवार’ में आएंगे। इस बीच फिल्म ‘शोले’ के ढेरों किस्से बाहर निकल कर आएंगे। हेमा मालिनी धर्मेंद्र से लेकर अमिताभ बच्चन तक के डायलॉग्स बोलती दिखेंगी। वहीं रमेश सिप्पी भी फिल्म के कैरेक्टर्स ‘जय-वीरू’ और बसंती को लेकर ढेरों बातें शेयर करेंगे।

इस शो से एक प्रोमो सामने आया है जिसमें अमिताभ बच्चन बताते दिखेंगे कि फिल्म में एक सीन है जिसे शूट करने में 3 साल लग गए। ‘एक दृश्य था कि हम माउथऑर्गन बजा रहे हैं और ऊपर देख रहे हैं, जया जी चिराग जला रही हैं। 3 साल लग गए उस एक शॉट को लेने में।’

तो वहीं वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए शो पर धर्मेंद्र भी जुड़ेंगे। ऐसे में धर्मेंद्र शो पर खुद से जुड़ एक किस्सा बताएंगे- ‘याद है मैं 28 मील पैदल चला गया था।’ इस पर रमेश सिप्पी रिएक्ट करते हुए कहेंगे – बिलकुल याद है। शो से एक टीजर और सामने आया था जिसमें हेमा मालिनी धर्मेंद्र के डायलॉग्स बोलती दिखती हैं- ‘बसंती इन कुत्तों के सामने मत नाचना।’

इसके अलावा अमिताभ और हेमा ‘जय-वीरू’ का एक सुपरहिट सीन भी री-क्रिएट करते हैं। सूत्रों के मुताबिक- इस बीच शो में अमिताभ बच्चन और हेमा मालिनी फिल्म सत्ते पे सत्ता के भी कई सीन्स री-क्रिएट करते और डायलॉग्स बोलते दिखेंगे। तो वहीं हेमा और अमिताभ ‘दिलबर मेरे’ गाने पर भी थरकते नजर आएंगे। तो वहीं एक प्रोमो में अमिताभ बच्चन एक मजेदार किस्से का जिक्र करते हैं, बाद में अमिताभ बच्चन कहते हैं कि ‘धर्मेंद्र इसे देखेंगे तो उन्हें पीटेंगे।’ वहीं हेमा मालिनी भी अमिताभ बच्चन की इस बात पर रिएक्ट करती हैं।

बता दें, हेमा मालिनी और रमेश सिप्पी शो केबीसी में बिग बी के सामने हॉटसीट पर बैठे नजर आएंगे। इस शो से जीती गई धनराशी को ‘हेमा मालिनी फाउंडेशन’ में डोनेट किया जाएगा। हेमा मालिनी फाउंडेशन मथुरा में बच्चों की एजुकेशन और मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए काम करती है।