श्मशान में लगे भाजपा नेताओं के बोर्ड, लोगों ने तस्वीर पर चढ़ा दिए चप्पलों के हार

पोस्टर में लिखा गया था कि भाजपा विधायक एस आर विश्वनाथ की तरफ से अंतिम संस्कार में शामिल होने आए लोगों के लिए भोजन और नाश्ते की व्यवस्था की गई है।

corona, karnatak, bengluru

देशभर में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। इस भयंकर महामारी में भी राजनीतिक पार्टी के नेता ऐसी हरकत कर देते हैं जिससे लोगों को गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच जाता है। कर्नाटक के बेंगलुरु में एक श्मशान के बाहर बीजेपी विधायक की तरफ एक बैनर लगाया गया। इस बैनर को देखकर कोरोना संक्रमित मृतकों का अंतिम संस्कार करने आए परिजन भड़क गए। भड़के लोगों ने बैनर में लगी तस्वीरों के ऊपर चप्पल चढ़ा दिए।

दरअसल बेंगलुरु के गिद्देनाल्ली श्मशान के बाहर येलाहंका से भाजपा विधायक एस आर विश्वनाथ के समर्थकों द्वारा एक पोस्टर लगाया गया था। इस पोस्टर में लिखा गया था कि भाजपा विधायक एस आर विश्वनाथ की तरफ से अंतिम संस्कार में शामिल होने आए लोगों के लिए भोजन और नाश्ते की व्यवस्था की गई है। इस पोस्टर में प्रधानमंत्री मोदी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदुरप्पा की भी तस्वीर लगाई थी।

श्मशान में इस पोस्टर को लगा देख शवों का अंतिम संस्कार करने आए परिजन भड़क गए। लोगों ने पोस्टर के ऊपर चप्पल की माला चढ़ा दी। साथ ही भाजपा विधायक और उनके समर्थकों के कारनामे को बयां करता यह फोटो जल्दी ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। फोटो वायरल होने के बाद लोग विधायक और उनकी पार्टी की आलोचना करने लगे। चौतरफा आलोचना होता देख स्थानीय भाजपा नेता और प्रशासनिक अधिकारी ने तुरंत ही उस बैनर को हटवा दिया। 

बेंगलुरु डेवलपमेंट अथॉरिटी के अध्यक्ष और भाजपा विधायक एस आर विश्वनाथ ने इस बैनर को लेकर वीडियो जारी किया और लोगों से माफ़ी मांगी। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें बैनर लगाए जाने की कोई जानकारी नहीं थी और उन्होंने बैनर को हटवा दिया है। हालांकि एस आर विश्वनाथ ने यह भी कहा कि बाहरी इलाके में श्मशान होने के कारण अधिकारियों को पानी और अन्य सुविधाओं को उपलब्ध कराने को कहा गया था। लेकिन किसी व्यक्ति ने गलती से यह बैनर लगा दिया, जिसकी मुझे जानकारी नहीं थी। 

साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह का पोस्टर लगाना उचित नहीं है। इस महामारी के समय हमें लोगों की मदद करनी चाहिए ना कि पब्लिसिटी बटोरने पर ध्यान देना चाहिए। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भी कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है बेंगलुरु के चामराजपेट के एक श्मशान में शवों की लंबी क़तर लगने की वजह से अधिकारियों ने बाहर ‘हाउसफुल’ का साइनबोर्ड लगा दिया। श्मशान में जगह ना मिलने के कारण सरकार ने खेत और दूसरे जगहों पर भी दाह संस्कार करने का फैसला किया है।