सचिन तेंदुलकर के कारण वीरेंद्र सहवाग को करानी पड़ी थी कंधे की सर्जरी, इंटरव्यू में वीरू ने बताया- क्यों नहीं करना चाहते हरभजन सिंह संग कुछ भी शेयर

रौनक ने सहवाग से बातचीत का यह वीडियो अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किया है। रौनक ने सहवाग से पूछा, ‘क्रिकेट का ऐसा नियम जिसे आपको लगता है बदल देना चाहिए। बहुत पकाऊ लगता है।’

Virender Sehwag Sachin Tendulkar Harbhajan Singh RJ Raunac1 वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर और हरभजन सिंह। (सोर्स- इंस्टाग्राम/वीरेंद्र सहवाग/हरभजन सिंह)

वीरेंद्र सहवाग गेंदबाजों की बखिया उधड़ने के अलावा अपनी हाजिरजवाबी के लिए भी प्रसिद्ध हैं। सोशल मीडिया पर सहवाग के ‘वीरू के फंडे’ भी मशहूर हैं। हाल ही में उन्होंने आरजे रौनक (RJ Raunac) से साथ बातचीत में जाहिर किया कि क्रिकेट का एक नियम उन्हें बिल्कुल नहीं पसंद है।

वह चाहते हैं कि उस नियम को हटा दिया जाए। साथ ही यह भी बताया कि आखिर क्यों वह हरभजन सिंह के साथ बस हो या प्लेन या फिर कमरा कुछ भी शेयर नहीं करना चाहते हैं। रौनक ने सहवाग से बातचीत का यह वीडियो अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किया है। रौनक ने सहवाग से पूछा, ‘क्रिकेट का ऐसा नियम जिसे आपको लगता है बदल देना चाहिए। बहुत पकाऊ लगता है।’

जवाब में सहवाग ने कहा, ‘वह नियम एलबीडब्ल्यू का है। क्रिकेट में एलबीडब्ल्यू को आउट नहीं दिया जाना चाहिए। पैड पर लगी तो आपको आउट नहीं दिया जाना चाहिए। आदमी विकेटें घेरकर कहीं भी शॉट मार सकता है। ऐसा हमारी गली क्रिकेट में होता है। मुझे लगता है कि यदि एलबीडब्ल्यू का नियम अगर बदला जाए या हटा दिया जाए तो मजा आ जाएगा।’

इस दौरान सहवाग ने यह भी बताया कि क्रिकेट सर्किल में सचिन तेंदुलकर उनके बेस्ट फ्रेंड हैं। सहवाग ने कहा, ‘मैं कहूंगा तेंदुलकर, क्योंकि मैंने बहुत साल उनके साथ गुजारे हैं। ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर भी साथ-साथ किए हैं। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है। बहुत थ्रो डाउन किए हैं।’

सहवाग ने कहा, ‘उनके चक्कर में मेरी कंधे की एक सर्जरी भी हो चुकी है। एक टाइम था, जब हम जिम भी एकसाथ जाते थे। ब्रेकफास्ट के लिए एक साथ जाते थे। तो काफी गहरी दोस्ती है हमारी। आज भी अगर वह मुझे बोलते हैं कि लाला यह करना है तो मैं बगैर सोचे समझे कर देता हूं। वह भी मेरे साथ ऐसा ही करते हैं।’

एक ऐसा क्रिकेटर/खिलाड़ी जिसके साथ आप बस की सीट हो, फ्लाइट की सीट हो या फिर कमरा हो, कुछ भी शेयर नहीं करना चाहते, कौन है वह और क्यों? इस सवाल पर सहवाग ने कहा, ‘ऐसा कभी सोचा नहीं, क्योंकि जब से इंडिया के लिए खेला तब से रूम शेयर किया नहीं। बस में भी इतनी सीटें होती थीं कि कोई बगल वाली सीट पर बैठता नहीं था। ऐसा कभी मौका लगा नहीं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘लेकिन अगर एक नाम लेना हो तो मैं हरभजन सिंह का लूंगा। क्योंकि भाईसाहब जब वह मंद मंद……….. थे ना, तब उनके पास बैठना थोड़ा मुश्किल हो जाता था। सहवाग ने जैसे ही अपनी बात खत्म की वैसे ही रौनक ने कहा कि यह वीडियो वायरल होने वाला है।’