सचिन तेंदुलकर ने टोक्यो पैरालंपिक में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को बताया वास्तविक नायक, क्रिकेट के भगवान ने 54 भारतीयों के लिए की यह अपील

सचिन तेंदुलकर ने उम्मीद जताई कि इस बार भारत पैरालंपिक में पिछले के मुकाबले अधिक पदक जीतने में सफल रहेगा। सचिन ने पैरा एथलीट्स को सरकार और कॉरपोरेट घरानों की ओर से मिल रहे समर्थन को देखकर भी खुशी जताई।

Sachin Tendulkar Tokyo Paralympics Sachin Tendulkar para athletes calls real life heroes सचिन तेंदुलकर को उम्मीद है कि भारत टोक्यो पैरालंपिक में पिछले के मुकाबले ज्यादा पदक जीतेगा। (सोर्स- इंस्टाग्राम/सचिन तेंदुलकर)

अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने पैरा खिलाड़ियों को ‘वास्तविक जीवन के नायक’ करार देते हुए देशवासियों से टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों का समर्थन करने की अपील की। पैरालंपिक खेल मंगलवार से शुरू होंगे।

तेंदुलकर ने सोमवार को बयान में कहा, ‘यह पैरालंपिक खेलों का समय है और मैं सभी भारतीयों से टोक्यो खेलों में भाग ले रहे देश के 54 खिलाड़ियों का समर्थन करने की अपील करता हूं।’ तेंदुलकर ने कहा कि पैरा खिलाड़ियों का सफर सीख देता है कि यदि जज्बा है और दृढ़ संकल्प है तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है। उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि ये महिलाएं और पुरुष विशेष क्षमताओं वाले खिलाड़ी नहीं बल्कि असाधारण क्षमता वाले महिला और पुरुष हैं जो हम सभी के लिए वास्तविक जीवन के नायक हैं।’

तेंदुलकर ने कहा, ‘उनकी जीवन यात्रा से हमें सीख मिलती है कि महिलाएं और पुरुष अपने जुनून, प्रतिबद्धता और दृढ़ संकल्प के साथ क्या कर सकते हैं और हम सभी के लिए प्रेरणा का काम कर सकते हैं।’

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि पैरालंपिक में हिस्सा लेने वाले हर खिलाड़ी का समर्थन करना जरूरी है भले ही परिणाम कुछ भी रहे। तेंदुलकर ने कहा, ‘मेरा मानना है कि यदि हम अपने पैरालंपिक खिलाड़ियों को उसी तरह से समर्थन दे सकते हैं जैसा हम अपने ओलंपिक नायकों और क्रिकेटर्स को देते रहे हैं तो हम बेहतर समाज स्थापित कर सकते हैं।’

उन्होंने कहा, ‘और केवल पदक विजेताओं का ही नहीं बल्कि सभी का हौसला बढ़ाना आवश्यक है, क्योंकि पैरालंपिक खेलों में हिस्सा लेने वाले सभी 54 खिलाड़ियों में से हर खिलाड़ी पदक नहीं जीत पाएगा, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम उन सभी खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई करें।’

उन्होंने कहा, ‘मैं पढ़ रहा हूं कि हम इस बार 10 से अधिक पदक जीत सकते हैं। मुझे उम्मीद है कि हम और पदक जीतेंगे। रियो में हमने चार पदक जीते थे। यदि इस बार हम 10 से अधिक पदक जीतते हैं तो यह बहुत बड़ा बदलाव होगा जिसका हम सभी को जश्न मनाना चाहिए।’

तेंदुलकर ने उम्मीद जताई कि इस बार भारत पैरालंपिक में पिछले के मुकाबले अधिक पदक जीतने में सफल रहेगा। सचिन ने पैरा एथलीट्स को सरकार और कॉरपोरेट घरानों की ओर से मिल रहे समर्थन को देखकर भी खुशी जताई।