सपा नेता का तालिबान को बधाई देने वाली पोस्ट वायरल, लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स

समाजवादी पार्टी के नेता चौधरी फैजान शाही अपनी एक फेसबुक पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल, उन्होंने कथित तौर पर फेसबुक के जरिए तालीबानी नेता मुल्ला गनी बरादर को बधाई दी।

mullah ghani baradar, afghanistan तालीबानी नेता मुल्ला गनी बरादर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

समाजवादी पार्टी के नेता चौधरी फैजान शाही अपनी एक फेसबुक पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल, उन्होंने कथित तौर पर फेसबुक के जरिए तालीबानी नेता मुल्ला गनी बरादर को बधाई दी। पोस्ट से जुड़े कुछ स्क्रीनशॉट भी सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं, जिसमें मुल्ला गनी बरादर की तस्वीर के साथ लिखा नजर आ रहा है, “मुल्ला गनी बरादर को अफगानिस्तान का राष्ट्रपति बनने पर दिली मुबारकबाद। सब ताज उछाले जाएंगे, सब तख्त गिराए जाएंगे।”

सपा नेता चौधरी फैजान शाही के इन स्क्रीनशॉट को लेकर सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के पत्रकार गौरव सिंह सेंगर ने इन स्क्रीनशॉट को अपने ट्विटर हैंडल से साझा किया और लिखा, “सपा नेता फैजान, तालिबानी मुल्ला गनी बरादर को बधाई दे रहे हैं। अजब-गजब राजनीति चल रही है। निंदनीय।”

एक यूजर ने गौरव सिंह सेंगर के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “इस तरह की मानसिकता के लोग कायदे से अखिलेश यादव को डुबोएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री को चाहिए कि तत्काल प्रभाव से ऐसे लोगों से दूरी बनाएं और इन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाएं। अन्यथा इस बार 2017 से भी खराब स्थिति को झेलने के लिए तैयार रहें।”

नीरज कुमार नाम के यूजर ने लिखा, “यही सब मैटेरियल भाजपा की 2022 और 2024 की राह आसान करेंगे।” अक्षत शर्मा नाम के यूजर ने लिखा, “सपा को हराने में भाजपा को अब ज्यादा जोर नहीं लगाना पड़ेगा। भाजपा की राष्ट्रवादी राजनीति के पार पाना विपक्ष के बस का नहीं है।”

फैसल इकबाल नाम के यूजर ने लिखा, “कुछ दिन ठहरिये, और बड़े-बड़े लोग हाथ मिलाने पहुंच जाएंगे।” बिनोद नाम के यूजर ने सपा को आड़े हाथों लेते हुए लिखा, “आखिर समाजवादी सरकार बनी है तो समाजवादियों की तरफ से बधाई तो बनती है।” एक यूजर ने सपा पर तंज कसते हुए लिखा, “सपा नहीं चाहिए, अभी नहीं और कभी नहीं।”

बता दें कि तालिबान को लेकर पीस पार्टी के नेता शादाब चौहान ने भी ट्वीट किया था, जिसे लेकर वह विवादों में घिर गए थे। शादाब चौहान ने ट्वीट में लिखा था, “तालिबान को शुभकामनाएं कि उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता को हासिल किया। उम्मीद है कि वह एहकाम-ए-इलाही निजाम-ए-मुस्तफा का राज कायम करेंगे, जिसमें किसी भी नागरिक के साथ भेदभाव नहीं होगा। सबको न्याय मिलेगा, हम शांति और न्याय के पक्षधर हैं।”