सरकार पर ज्यादा भरोसा अच्छा नहीं, झूठ का पर्दाफाश करें बुद्धिजीवी- बोले सुप्रीम कोर्ट के जज

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि बुद्धिजीवों का काम है कि वह सरकार के झूठ सामने लाएं और लोगों को सच बताएं।

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव by प्रशांत नाडकर

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा है कि बुद्धिजीवियों का कर्तव्य है कि वे सरकार के झूठ सामने लगाएं। उन्होंने कहा कि यह एक लोकतांत्रिक देश है और किसी भी गलत खबर या अजेंडे के लिए सरकार की जिम्मेदारी तय करना ज़रूरी है। कोरोना के आंकड़ों से छेड़छाड़ की बात करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि जरूरत से ज्यादा सरकार पर यकीन करना ठीक नहीं है। सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक और सांस्कृतिक सच को हासिल करने के लिए सरकार पर जरूरत से ज्यादा विश्वास केवल निराशा ही देगा।

जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, कोई केवल उस बात पर विश्वास नहीं कर सकता जो सरकार बता रही है। ज्यादातर सरकारें अपनी सत्ता को बचाए रखने के लिए झूठ बोलती हैं। पूरी दुनिया में यह ट्रेंड देखा जा रहा है उन्होंने कोविड के सही आंकड़े नहीं पेश किए। उनका यह बयान कोरोना काल के आंकड़ों से जोड़कर देखा जा रहा है।