सवाल पूछने वालों से क्यों डरती है सरकार? पुण्य प्रसून बाजपेयी ने केंद्र सरकार को मारा ताना, मेहुल चोकसी का भी किया जिक्र

वैक्सीन को लेकर मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि वह सवाल पूछने वालों से क्यों डरती है।

Punya Prasun Bajpai, PM Narendra Modi, Central Government, पुण्य प्रसून बाजपेयी, पीएम नरेंद्र मोदी, सेंट्रल गवर्नमेंट,

कोरोना वायरस के बीच वैक्सीनेशन की प्रक्रिया जारी है। लेकिन कई राज्यों में वैक्सीन की कमी की खबरें सामने आ रही हैं। वहीं, दूसरी और लगातार विपक्ष केंद्र सरकार को वैक्सीन विदेशों में भेजने के लिए घेरता हुआ दिखाई दे रहा है। दिल्ली में भी कई जगह वैक्सीन के विदेश भेजे जाने को लेकर पोस्टर लगाए गए। दूसरी वैक्सीन को लेकर मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि वह सवाल पूछने वालों से क्यों डरती है। इसके साथ ही पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्वीट में मेहुल चौकसी का भी जिक्र किया।

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने सरकार पर वैक्सीन को लेकर तंज कसते हुए लिखा, “भारत ने 6.63 करोड़ वैक्सीन दुनियाभर में भेजी है। मेहुल चौकसी के देश को भी 40 हजार वैक्सीन भेजी गई। 16 अप्रैल तक वैक्सीन भेजी गई है तो सवाल पूछने वालों से क्यों डरती है सरकार।”

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने मामले को लेकर एक वीडियो भी साझा किया, जिसमें उन्होंने दिल्ली पुलिस पर भी सवाल उठाए। उन्होंने पोस्टर चिपकाने वालों की गिरफ्तारी पर सवाल पूछते हुए कहा, “आज आम लोगों ने पोस्टर चिपकाए हैं तो दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन कल अगर बच्चे यह पोस्टर चिपकाएंगे तो सरकार या दिल्ली पुलिस क्या करेगी?”

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने वीडियो में कहा कि जो लोग कोरोना संकट के दौरान मदद के लिए आगे आ रहे हैं, दिल्ली पुलिस उनसे भी पूछताछ करने पहुंच जा रही है। इससे इतर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने अपने ट्वीट में किसान सम्मान निधी रकम और कफन के दाम की तुलना करते हुए भी एक ट्वीट किया।


पुण्य प्रसून बाजपेयी ने अपने ट्वीट में कफन की मांग के बारे में बात करते हुए लिखा, “किसान सम्मान निधी रकम है 2000 रुपए। प्रतिदिन की रकम 1.66 रुपए है। वहीं, गया में थोक में सूती कफर नेट है 25 रुपए। बिहार में कफन की मांग में तीन गुना इजाफा।” बता दें कि पुण्य प्रसून बाजपेयी इससे पहले अस्पतालों में ऑक्सीजन व बेड की कमी और सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर भी खूब ट्वीट किये थे।


बता दें कि वैक्सीन के विदेशों में भेजे जाने को लेकर पुण्य प्रसून बाजपेयी के अलावा आप नेता राघव चड्ढा ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को वोट कौन देता है? भारत की जनता या यूगांडा, नाइजीरिया, बांग्लादेश ओमान और कुवैत की जनता वोट देती है? वहां वैक्सीन पहले क्यों भेजी गई?