सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या पर विजय सांपला ने कांग्रेस को घेरा, कहा- लखीमपुर में जाकर दिए 50 लाख, पंजाब में भी निभाएं अपना फर्ज

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली से सटे सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन हालही में किसानों के प्रदर्शन स्थल पर एक दलित युवक का शव बरामद होने से सनसनी मच गई थी।

Vijay Sampla कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली से सटे सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन हालही में किसानों के प्रदर्शन स्थल पर एक दलित युवक का शव बरामद होने से सनसनी मच गई थी। (फोटो-ANI)

सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या के मामले में बयानबाजी का दौर जारी है। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने इस मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा है।

उन्होंने कहा कि पंजाब के सीएम दलित हैं, वे लखीमपुर जाकर 50 लाख के दान की बात करते हैं। ऐसे में उन्हें पंजाब के प्रति भी उन्हें अपना फर्ज निभाना चाहिए। एक दलित की निर्मम हत्या की गई, वीडियो बनाकर डाला गया लेकिन उन्होंने इस पर एक शब्द नहीं कहा।

बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली से सटे सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन हालही में किसानों के प्रदर्शन स्थल पर एक दलित युवक का शव बरामद होने से सनसनी मच गई थी। इस व्यक्ति का नाम लखबीर सिंह है और ये तरनतारन का रहने वाला था। जानकारी के मुताबिक इस शख्स का किसी राजनीतिक दल से कोई संबंध नहीं था।

35 साल के लखबीर सिंह को लेकर जानकारी आई है कि, इस शख्स की तीन बेटियां हैं और वो दिल्ली में कुछ समय से रह रहा था। मालमू हो कि लखबीर के साथ उसका परिवार नहीं रहता था। इस मामले में सोनीपत पुलिस को कुछ वीडियो भी मिले हैं, जिसके आधार पर जांच की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार, मृतक को मारकर उसके शव को बैरिकेडिंग से टांग दिया गया था। शव मिलने की जानकारी कुंडली थाने में दी गई थी, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बैरिकेडिंग से शव को उतारा। इसके बाद पुलिस शव को पास के सिविल हॉस्पिटल लेकर गई। बता दें कि मृतक लखबीर सिंह के शरीर पर धारदार हथियार के निशान पाए गए हैं।

बता दें कि सिंघु बॉर्डर पर हुई लखबीर सिंह की हत्या मामले की जांच पंजाब एसआईटी करेगी। पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के निर्देश पर डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता ने बुधवार को विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया।

एसआईटी का गठन इन्वेस्टीगेशन ब्यूरो के एडीजीपी-कम-डायरेक्टर वरिंदर कुमार की अध्यक्षता में हुआ है और फिरोजपुर रेंज के डीआईजी इंदरबीर सिंह और तरनतारन के एसएसपी हरविन्दर सिंह विर्क इसके सदस्य होंगे।