सिद्धू की अगुवाई में चुनाव लड़ने वाले बयान पर हरीश रावत का यू-टर्न, कहा- ऐसा कभी कहा ही नहीं

गौरतलब है कि, चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ वाले दिन हरीश रावत ने कहा था कि, पंजाब में अगला विधानसभा चुनाव सिद्धू की अगुवाई में लड़ा जाएगा। इस बयान पर कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने भी आपत्ति जताई थी।

harish rawat panj pyare गुरुद्वारा पहुंचे पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत (फोटो- वीडियो स्क्रीनशॉट, @harishrawatcmuk)

पंजाब में चल रहे सियासी हलचल के बीच राज्य के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत अब अपने उस बयान से पलट गए हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि, अगले साल पंजाब विधानसभा चुनाव नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। निजी न्यूज चैनल एबीपी न्यूज के एक कार्यक्रम में बात करते हुए हरीश रावत ने अपने ही बयान से यू-टर्न लेते हुए कहा कि, ऐसा किसी ने नहीं कहा और ना ऐसा है।

कौन होगा सीएम पद के लिए चेहरा: इसके बाद रावत से सवाल किया गया कि, आप मतलब यह साफ तौर पर कह रहे हैं कि पंजाब विधानसभा चुनाव में सीएम पद का चेहरा ना तो सिद्धू होंगे और ना ही चन्नी। इसपर रावत ने कहा कि, हमने ये कहीं नहीं कहा। सीएम चेहरा चुनाव बाद पार्टी अपने परंपरागत तरीके से चुनती है।

वहीं पंजाब कांग्रेस में चल रहे मनमुटाव को लेकर रावत ने कहा कि, किसी मुद्दे पर लोगों के अलग-अलग विचार होते हैं, सभी अपनी राय देते हैं, लेकिन जब पार्टी कोई फैसला लेती है, तो इसपर सब एकसाथ खड़े होते हैं। पंजाब में भी यही हुआ है।

दरअसल पंजाब के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की अगुवाई में अगला विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर हरीश रावत ने साफ तौर पर कहा कि, ऐसा किसी ने नहीं कहा था। रावत ने कहा कि, मुझसे एक सवाल किया गया था, जिसके जवाब में मैंने उस दौरान कहा था कि, सिद्धू और मुख्यमंत्री मिलकर हमें पंजाब चुनाव जिताएंगे। और रही बात मुख्यमंत्री चेहरे के चयन की, तो हमारी पार्टी के अंदर एक लोकतांत्रिक परंपरा है, उसी के तहत चुनाव बाद सीएम के नाम का चुनाव होता है।

शपथ वाले दिन दिया था बयान: बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ वाले दिन हरीश रावत ने एक बयान में कहा था कि, पंजाब में अगला विधानसभा चुनाव सिद्धू की अगुवाई में लड़ा जाएगा। इस बयान पर कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने भी आपत्ति जताई थी।

जाखड़ ने अपने ट्वीट में लिखा था कि, ‘‘चरणचीत सिंह चन्नी के शपथ के दिन ही, रावत का ‘‘सिद्धू के नेतृत्व में चुनाव लड़ने वाला बयान’’ चौंकाने वाला है।” फिलहाल रावत का बयान उस समय आया था जब नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष थे। मौजूदा समय में सिद्धू पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके हैं।