सुनील दत्त की परेशानी सुनकर छलक उठे थे दिलीप कुमार के आंसू, रातों को उठकर परिवार करता था दुआएं

टीवी शो ‘जीना इसी का नाम है’ में सुनील दत्त ने बताया था कि एक बार वह संजय दत्त को लेकर अपनी परेशानी दिलीप कुमार को बता रहे थे और वह भावुक भी हो गए थे।

Dilip Kumar, Sunil Dutt बॉलीवुड एक्टर दिलीप कुमार (Photo- Indian Express)

बॉलीवुड एक्टर सुनील दत्त और दिलीप कुमार बहुत अच्छे दोस्त थे। सुनील दत्त कई मौकों पर दिलीप कुमार की तारीफ भी करते थे। दोनों एक-दूसरे के पड़ोसी भी थे। सुनील दत्त ने एक बार बताया था कि वह जब भी परेशान हुआ करते थे तो दिलीप कुमार के घर चले जाया करते थे। कई बार ऐसे मौके भी आए जब सुनील दत्त ने अपनी परेशानी दिलीप कुमार को सुनाई और वो भावुक हो गए।

सुनील दत्त ने एक ऐसा ही किस्सा टीवी शो ‘जीना इसी का नाम है’ में सुनाया था। सुनील दत्त ने कहा था, ‘एक चीज मैंने तब देखी थी जब संजू को परेशानी हो गई थी। सायरा जी और दिलीप साहब संजू को अपने बच्चे की तरह प्यार करते थे। संजय की परेशानी के बारे में मैं जब कई बार दिलीप साहब को सुनाता था तो इनकी आंखों में आंसू देखता था। यूसुफ साहब ऐसा महसूस करते थे जैसे उनके बच्चे को तकलीफ हो रही है।’

जब छलक उठे थे दिलीप कुमार के आंसू: सायरा बानो इतने में बोलती हैं, ‘सिर्फ यूसुफ साहब और मैं ही नहीं मेरी मां और सास तक के पास मैं रात को ‘खुदा हाफिज़’ कहने के लिए जाती थी। मैंने अपने परिवार को उन सभी लोगों को रातभर करवटें लेते हुए देखा है। वो सभी लोग रात को नमाजें पढ़ते और संजू के लिए दुआ करते थे। मुझे लगता है कि हमारा पूरा परिवार ही दत्त परिवार को बहुत मोहब्बत करता है। सभी लोग इनके लिए बहुत चिंतित रहते थे।

दिलीप कुमार ने कहा था, ‘फिल्मों में तो आपने देखा ही है कि कैसे चेहरे बदल जाते हैं। सुनील को पता नहीं कैसे बने-बनाए हालात ने घेर लिया था। ये बहुत हिम्मत की बात है कि आगे बढ़ते रहना। ये बात भी बहुत कम लोगों से करता था। सिर्फ उन्हीं लोगों से बात करता था जो इसके अपने हों। हम लोग तो ऐसे लोग हैं जो हर मुसीबत को लांघना जानते थे। हमें कभी भी परेशानियां झुका नहीं पाईं।’ इतने में सायरा बानो कहती हैं, ‘इन दोनों के जैसे एक्टर और लोग अब होते ही नहीं हैं।’