सुपर- कैप्टन अमरिंदर के इस्तीफे पर अमिश देवगन ने का ट्वीट, फिल्म निर्माता बोले- कांग्रेस ने कुल्हाड़ी पर पैर मारा

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस कदम पर विनोद कापरी से लेकर अशोक पंडित ने ट्वीट किया है।

Captain Amrinder Singh पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)। Source – Indian Express

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि वह चार सप्ताह पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से यह कह चुके थे कि वह नवजोत सिंह सिद्धू के साथ काम नहीं कर सकते हैं। रिपब्लिक भारत को दिए इंटरव्यू में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि इस्तीफा देने का यह फैसला अचानक नहीं किया गया था। अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद से ही कांग्रेस विपक्षी दलों के साथ-साथ आम जनता के निशाने पर आ गई है।

फिल्म निर्माता विनोद कापरी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे को लेकर कांग्रेस पार्टी पर तंज कसा और लिखा, “कांग्रेस ने पैर पर कुल्हाड़ी नहीं मारी है, कुल्हाड़ी पर पैर मारा है। भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी को कांग्रेस को खत्म करने का प्रयास छोड़ देना चाहिए।” वहीं पत्रकार अमिश देवगन ने कैप्टन अमरिंदर के इस्तीफे पर रिएक्शन देते हुए लिखा, “सुपर…।”

पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने मामले पर रिएक्शन देते हुए लिखा, “सीएम न हुआ, कोई टटपुंजिया हो गया।” वहीं फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए लिखा, “यह चीज पंजाब में कांग्रेस का अंत है।” अशोक पंडित यहीं नहीं रुके, उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा, “अमरिंदर सिंह का इस्तीफा यह साबित करता है कि राहुल गांधी केवल खराब कॉमेडियन के साथ ही काम कर सकते हैं।”

मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने पंजाब राजनीति पर ट्वीट करते हुए लिखा, “कैप्टन गुजरात की राह… समूची कैबिनेट का इस्तीफा सौंपा।” आरजे सायमा ने मामले पर अपना रिएक्शन देते हुए ट्वीट किया, “यह तो जाहिर था, जब उन्होंने विनाशकारी सुधार का बचाव किया था।”

इस्तीफे के बाद दिये इंटरव्यू में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी से हुई बातचीत के बारे में भी बताया था। उन्होंने कहा, “मैंने सोनिया गांधी से कहा था कि आपने सिद्धू को आगे बढ़ा दिया है। लिहाजा अब मुझे मेरे कर्तव्यों से मुक्त करें, क्योंकि हम दोनों एक साथ मिलकर पंजाब के लिए तो कुछ नहीं कर सकते हैं, जिसके जवाब पर सोनिया गांधी ने मुझे सीएम पद पर बने रहने की बात कही थी।”

इससे इतर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि मेरा फैसला आज सुबह ही हो गया था। मैं बातचीत के लहजे से अपमानित महसूस करता था। मैंने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष को अपने इस्तीफे की सूचना दे दी थी।