सुप्रीम कोर्ट से गुजरात सरकार को फटकार, बोला- कोरोना से बचाने की जगह आग से मारे जा रहे लोग

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को फटकार लगाई है और कहा है कि जिन अस्पतालों में आग लगी थी, उनपर कार्रवाई न करके लोगों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

गुजरात के भरूच के अस्पताल की तस्वीर जिसमें लग गई थी आग। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव

गुजरात के कोविड अस्पताल में आग लगने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को जमकर फटकार लगाई है। दरअसल गुजरात सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर कहा था कि जिन अस्पतालों के पास भवन उपयोग की अनुमति नहीं है उनपर कार्रवाई नहीं की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने इस अधिसूचना पर रोक ला दी है। आग लगने की घटनाओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार का कर्तव्य कोरोना से लोगों का बचाना है और यह आग लगाकर मार देना चाहती है।

सुप्रीम कोर्ट ने अस्पतालों में आग लगने की घटनाओं को मानवीय त्रासदी बताया है। बता दें कि गुजरात सरकार ने 8 जुलाई को जारी अधिसूचना में कहा था कि जिन अस्पतालों के पास भवन उपयोग की परमिशन नहीं है उनपर अगले साल मार्च तक कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार का यह नोटिफिकेशन लोगों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है।