सोनिया गांधी का केंद्र पर वार, अब तो जागो, सबके खाते में डाले जाएं 6 हजार रुपये

शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वीडियो संदेश के जरिए सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि केंद्र एवं राज्य सरकारें जागें और अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें।

sonia gandhi, congress, covid

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। सोनिया गांधी ने कहा है कि अब तो समय गया है कि सरकारों को जाग जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा है कि इस महामारी के दौरान सभी गरीब परिवारों के खाते में छह हजार रुपए दिए जाने चाहिए ताकि उन्हें समस्याओं से निपटने में मदद मिल सके।

शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वीडियो संदेश के जरिए सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि केंद्र एवं राज्य सरकारें जागें और अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सबसे पहले गरीबों के बारे में सोचे और देश के हर गरीब परिवार के खाते में छह हजार रुपए पहुंचाए ताकि मौजूदा संकट से निपटने में उन्हें मदद मिल सके। इसके अलावा उन्होंने कोरोना महामारी से निपटने के लिए देश में एक राष्ट्रीय नीति तैयार किए जाने की वकालत भी की। 

सोनिया गांधी ने कहा “मैं केंद्र सरकार से अपील करती हूं कि देश में कोविड-19 संकट से निपटने के लिए राष्ट्रीय नीति तैयार की जाए और इसे लेकर राजनीतिक सर्वसम्मति बनाई जाए।’’ साथ ही उन्होंने सरकार से देशभर में मुफ्त टीकाकरण करने का आग्रह किया और कहा कि देश में टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए और टीकों का उत्पादन बढ़ाने के लिए लाइसेंस हासिल करने को अनिवार्य बनाया जाना चाहिए।

 

इसके अलावा सोनिया गांधी ने अपने वीडियो संदेश में केंद्र सरकार से कोरोना जांच बढ़ाने और दवाओं की कालाबाजारी रोकने की भी अपील की। सोनिया गांधी ने कहा कि देशभर में दवाइयों, ऑक्सीजन और जरुरी सामानों की आपूर्ति जल्दी से जल्दी की जाए। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी वैश्विक महामारी के खिलाफ केंद्र सरकार के साथ खड़ी है। इसके अलावा उन्होंने देशवासियों से भी इस मुश्किल घड़ी में एकसाथ खड़े होने की अपील की। 

 

देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के करीब 4,01,993 नए मामले सामने आए। साथ ही करीब 3,523 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो गई। देश में मरने वालों का कुल आंकड़ा 2,11,853 पर पहुंच गया है। देश में एक्टिव केसों की संख्या भी 32 लाख के पार हो गई है।