सौभाग्यशाली हूं कि अलग-अलग चरित्र निभाए : राजपाल यादव

इन दिनों राजपाल यादव अपनी आगामी फिल्म टैक्सी में भूत है और आर्डर आर्डर फिल्म को लेकर सुर्खियों में है।

दिनेश जाला

हंगामा, गरम मसाला, हेरा फेरी, भागमभाग और भूल भुलैया जैसी फिल्मों में अपने अभिनय से छाप छोड़ चुके राजपाल यादव बालीवुड फिल्म उद्योग में 25 साल पूरे करने जा रहे हैं। इन दिनों अपनी आगामी फिल्म टैक्सी में भूत है और आर्डर आर्डर फिल्म को लेकर सुर्खियों में है। पिछले महीने रिलीज हुई फिल्म अर्ध में मुख्य किरदार में नजर आए थे। राजपाल अभी कई चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं निभाने जा रहे हैं। उनसे बातचीत…

सवाल : आप फिल्म उद्योग में 25 साल पूरे कर रहे हैं। फिल्मों से जुड़ी ऐसी कौन सी यादे हैं, जिन्हें आप लंबे अरसे तक याद रखना चाहेंगे?
’अब 25 साल में क्या करना है, उस पर ध्यान केंद्रित होगा। हर दिन नया है और हर दिन सीखना है। हां, बीते 25 साल ने मुझमें भरोसा पैदा किया कि इस उद्योग में जहां जैसी भी चुनौती मिली, उस पूरी करना है। पुराना आधार जरूर रहेगा, लेकिन भावी 25 साल में यह दुहराव नहीं बनेगा।

ANUPAMA SIDE ROLE ACTORS ARE LOVED BY FANS

‘अनुपमा’ में सपोर्टिंग रोल निभा रहें इन 7 किरदारों ने भी जीता दिल

TV ACTRESS WHO HAVE SAVED THEMSELVES FROM CASTING COUCH

रुबीना और दिव्यांका सहित टीवी की इन टॉप एक्ट्रेसेस ने कास्टिंग काउच से बचाई अपनी इज्जत

ESHA GUPTA IN KILLER LOOK

व्हाइट गाउन में ईशा गुप्ता का किलर अवतार

पक्के चाय लवर हैं बॉलीवुड के ये 7 सितारे

सवाल : आपने 200 से ज्यादा फिल्में की हैं। आज की फिल्मों के प्रति आपकी पसंद कितनी बदल गई है?
’यह अभिनेता के बस में नहीं होता। अभिनेता को हमेशा अपने दिल के दरवाजे खुले रखने चाहिए। अगर मैं पसंद पर रहता तो शायद अर्ध का हिस्सा नहीं हो पाता। मैंं हमेशा रचनात्मकता के द्वार खुले रखता हूं। पसंद अभिनेताओं की नही होती है। उसके लिए निर्देशक, निर्माता और दर्शकों पर ही निर्भर होना पड़ता है। मैं इस मामले में सौभाग्यशाली हूं कि मैंने अलग-अलग चरित्रों को निभाया है।

सवाल : ओटीटी का दौर है। कई बड़े सितारों ने ओटीटी पर अपनी प्रतिभा दिखाई है। आप कैसी ओटीटी फिल्मों या वेबसीरीज में काम करना चाहते हैं।
’ओटीटी को लेकर कुछ सालों से मैं बहुत खुश था, क्योंकि इसके जरिए अलग-अलग रचनात्मक योजनाओं के साथ कई देशों में जाने का मौका मिल रहा था। तो यह मंच बहुत ही अच्छा लगा। लेकिन मुझे लग रहा था कि पता नहीं में इसके साथ न्याय कर पाऊंगा या नहीं। 50 के आसपास योजनाओं की पेशकश हुई थी, लेकिन सबसे पहले मैं पूछता था कि आपकी कहानी में गालीगलौज है या नही? वे बोलते थे, आप गाली नहीं दे रहे, सामने वाला गाली दे रहा है। तभी मुझे लगता है जिस फिल्म का आप हिस्सा हैं और उसमें आप गाली दें या दूसरा गाली दे, वह फिल्म का हिस्सा ही हो जाता है। इसलिए मैं ऐसी फिल्मों में अपने आपको सहज नहीं पाता।

सवाल:आपको सबसे ज्यादा पहचान किस फिल्म ने दी?
’जंगल एक ऐसी फिल्म थी जिसमें मेरी नकारात्मक भूमिका थी। फिर माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं जैसी फिल्म भी की। तब फिल्मों की दो धाराएं थीं। कला सिनेमा और व्यावसायिक सिनेमा। तब श्याम बेनेगल और यश चोपड़ा साहब के बीच एक समान व्यावसायिक फिल्म की नींव थी, मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं। दूसरी ओर जंगल में बतौर अभिनेता स्थापित होने का मौका मिला। उसके बाद एक और फिल्म आई हंगामा जिसने लोकप्रिय बनाने में बहुत योगदान दिया। तो कह सकते हैं कि ये दो-तीन फिल्में ऐसी थीं, जिनमें मुख्य किरदार था, सहायक भूमिका थी और नकारात्मक भूूमिका भी थी।

सवाल : आगामी योजना के बारे में थोड़ा बताइए।
’एक फिल्म जल्द आएगी। उसमें सहायक की भूमिका में हूं। उसका ढांचा थोड़ा अलग है। और व्यावसायिक फिल्मों में शीर्ष तीन जैसे कलाकारों में मुझे भी जगह मिल गई है। मैं अपने को इस मामले में बहुत सौभाग्यशाली मानता हूं। लेकिन इसके बाद और जो फिल्में आएंगी, उनमें मेरी मुख्य भूमिका होगी।। लेकिन उनके बारे में विस्तार से बताना जल्दबाजी होगी। लेकिन ये तीन विषय ऐसे हैं, जिनको मैं एक साल के भीतर पूरी करने की तैयारी कर रहा हूं। एक फिल्म है ‘टैक्सी में भूत है’ दूसरी आर्डर आर्डर और तीसरी ‘माबान’। तो ये मेरी आनेवाली फिल्में हैं जिनमें मैं मुख्य किरदार में हूं।