सौरव गांगुली ने फिर मैदान पर लगाए चौके-छक्के, जय शाह की टीम ने दादा की टीम को रोमांचक मुकाबले में 1 रन से हराया

बीसीसीआई की सालाना मीट एजीएम से पहले एक फ्रेंडली मैच खेला गया। इस मुकाबले में सौरव गांगुली की प्रेसिडेंट एकादश को जय शाह की अगुआई वाली सचिव एकादश ने 1 रन से हरा दिया। इस मुकाबले में दादा ने 35 रनों की शानदार पारी खेली।

sourav-ganguly-batting-seen-again-during-friendly-match-between-bcci-president-11-and-jay-shah-secretary-11-won-by-1-run सौरव गांगुली ने 20 गेंद में दो छक्के और चार चौकों की मदद से 35 रन बनाए (सोर्स- ट्विटर @CabCricket)

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के पारंपरिक ऑफ साइड ड्राइव और बाहर निकलकर खेलने वाले शॉट शुक्रवार को एक प्रदर्शनी मैच के दौरान फिर दिखाई दिए। लेकिन उनकी टीम बीसीसीआई अध्यक्ष एकादश जय शाह की अगुआई वाली सचिव एकादश से एक रन से हार गई। इस मुकाबले में गांगुली के अलावा मोहम्मद अजहरूद्दीन भी खेलते नजर आए।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की आम सालाना बैठक की पूर्व संध्या पर कोलकाता के ईडेन गार्डेन्स में 15-15 ओवर का एक प्रदर्शनी मैच आयोजित किया गया। सौरव गांगुली छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। ‘फिनिशर’ की भूमिका निभा रहे गांगुली ने 20 गेंद में दो छक्के और चार चौकों की मदद से 35 रन बनाए।

उन्हें मैच के नियमों के अनुसार रिटायर होना था और उनकी टीम महज एक रन से पीछे रहकर हार गई। गांगुली के घरेलू मैदान में बीसीसीआई सचिव शाह ने अपनी स्पिन गेंदबाजी से कमाल कर दिया और सात ओवर में 58 रन देकर तीन विकेट चटकाकर स्टार बने। इससे टीम 128 रन के स्कोर का बचाव कर सकी।

उन्होंने ईडेन के पसंदीदा क्रिकेटर मोहम्मद अजहरूद्दीन का विकेट झटका जो दो रन पर पगबाधा आउट हुए। शाह ने गोवा क्रिकेट संघ के सूरज लोटलिकर को भी आउट किया। स्कोर में एक रन भी नहीं जुड़ा था कि टीम को तीसरा झटका लगा जब सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतरे बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष अविषेक डालमिया 13 रन बनाकर रन आउट हुए।

इसके बाद शहर के पसंदीदा बेटे गांगुली ने उसी शालीनता से बल्लेबाजी करते हुए ऑफ साइड पर कट और ड्राइव शॉट से अपनी पारी आगे बढ़ायी। 35 रन की पारी के दौरान उन्होंने दो गेंदों पर बाहर निकलने के अपने पारंपरिक शॉट भी खेले।

इससे पहले बल्लेबाजी का फैसला करके जय शाह की बीसीसीआई सचिव एकादश ने अरूण धूमल (36) और जयदेव शाह (40) के बीच 92 रन की भागीदारी से निर्धारित ओवर में तीन विकेट पर 128 रन का स्कोर खड़ा किया। अजहरूद्दीन और गांगुली ने मिलकर नई गेंद से गेंदबाजी की। गांगुली ने अपने तीन ओवर में 19 रन और अजहरूद्दीन ने दो ओवर में आठ रन दिए।