स्कूटी सवार लड़की का बुर्का उतरवाया, हिजाब भी खींचा, VIDEO सामने आने पर बढ़ा विवाद

पुलिस का कहना है कि बुर्का उतरवा रहे लोगों को संदेह था कि लड़की हिंदू है क्योंकि जिस स्कूटी पर वह बैठी थी, उस पर फूल लगे हुए थे। वहीं स्कूटी चला रहे लड़के के हाथ पर कलावा बंधा हुआ था।

Madhya Pradesh, Bhopal, Viral video, Woman Forced To Take Off Hijab, Pillion rider, Bhopal Police वायरल वीडियो में एक लड़की को घेरकर कुछ लोग बुर्का हटाने के लिए मजबूर कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक युवती के साथ घृणित हरकत की गई। कुछ लोग जबरन उसका बुर्का उतार देते हैं। वीडियो भोपाल के इस्लाम नगर इलाके का है। पीड़ित लड़की ने इस वीडियो को लेकर कोई शिकायत नहीं दर्ज करवाई है। लेकिन पुलिस ने वीडियो सामने आने के बाद दो लोगों के खिलाफ 151 के तहत निरोधक कार्रवाई की है।

वायरल वीडियो में एक लड़की को घेरकर कुछ लोग बुर्का हटाने के लिए मजबूर कर रहे हैं। लोग लड़की से बार-बार बुर्का उतारने को कह रहे हैं। उनका कहना था कि आप हमारी कौम को बदनाम कर रही हैं। लड़की से जबरदस्ती बुर्का उतरवाया जाता है। पुलिस का कहना है कि बुर्का उतरवा रहे लोगों को संदेह था कि लड़की हिंदू है क्योंकि जिस स्कूटी पर वह बैठी थी, उस पर फूल लगे हुए थे। वहीं स्कूटी चला रहे लड़के के हाथ पर कलावा बंधा हुआ था। लड़की से जबरन लोग बुर्का उतरवाते हैं। उसने जींस पहनी थी। इस पर भी लोग टिप्पणी करते हैं। साथ ही इसका वीडियो बनाते हैं।

वीडियो में ही कुछ महिलाएं भी जबरन उस लड़की को अपना चेहरा दिखाने के लिए मजबूर कर रही हैं। युवती वीडियो में रोती हुई दिख रही है। वीडियो में दिख रहा है कि युवती पहले बुर्का हटाने से इनकार करती है लेकिन उसके सहयात्री के समझाने पर वह बुर्का उतारती है। इसके बाद लोग उसे हिजाब हटाकर चेहरा दिखाने को कहते हैं। इस दौरान वो उसका वीडियो भी बना लेते हैं। शुरुआत में लड़की ने विरोध किया तो महिलाएं जबरन उसका चेहरा देखने की कोशिश करती हैं।

पुलिस ने बताया कि दोपहर में एक युवक और लड़की इस्लाम नगर पहुंचे। कुछ लोगों ने उन्हें रोका और लड़की से बुर्का हटाने और अपना चेहरा दिखाने को कहा। लोगों का मानना था कि वह आदमी हिंदू और लड़की मुस्लिम थी।

पुलिस के मुताबिक फिलहाल दो लोगों के खिलाफ 151 के तहत एक्शन लिया गया है। उन्हें इस तरह की हरकत नहीं करने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है। एक अधिकारी के मुताबिक- हमारा ध्येय घृणा के माहौल पर अंकुश लगाना है, जिससे फिर से ऐसी घटना न हो। अगर इस तरह की घटना फिर से होती है तो सख्त से सख्त कदम उठाए जाएंगे।