स्कूल रैंकिंग में टॉप पर पंजाब! बोले दिल्ली के डिप्टी CM- ये मोदी और कैप्टन की दोस्ती दर्शाता है

मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि पंजाब की जनता सरकारी स्कूलों की बदहाली से परेशान है। लेकिन मोदी जी कैप्टन साहब को आशीर्वाद दे रहे हैं।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर पर साधा निशाना।

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच गुप-चुप दोस्ती होने का आरोप लगाया। सिसोदिया ने यह टिप्पणी हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से जारी प्रदर्शन ग्रेडिंग सूचकांक (परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स) में पंजाब के स्कूलों को पहला स्थान मिलने के बाद आई है।

क्या बोले मनीष सिसोदिया?: मनीष सिसोदिया ने केंद्र और पंजाब सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘कैप्टन (अमरिंदर सिंह) को मोदीजी का आशीर्वाद प्राप्त है। दिल्ली के स्कूलों को सूची में काफी नीचे जगह मिली है। पंजाब में पिछले पांच साल में करीब 800 सरकारी स्कूल बंद हुए हैं और कई स्कूलों का संचालन निजी प्रतिष्ठानों को सौंप दिया गया है, फिर भी पंजाब सूची में पहले स्थान पर है।’’

पंजाब में आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी दल है, भाजपा दूसरी विपक्षी पार्टी है। राज्य में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। सिसोदिया ने आरोप लगाया कि पंजाब के सरकारी स्कूलों में छात्रों के लिए शिक्षा व्यवस्था बहुत खराब है और अभिभावक अपने बच्चों को निजी स्कूलों में भेजना पसंद करते हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि पंजाब की जनता सरकारी स्कूलों की बदहाली से परेशान है। लेकिन मोदी जी कैप्टन साहब को आशीर्वाद दे रहे हैं। सिसोदिया ने ग्रेडिंग सिस्टम पर सवाल उठाते हुए कहा कि सूचकांक स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में पंजाब सरकार की असफलता का छुपाने का प्रयास है। उन्होंने कहा, ‘‘हो सकता है कि बाद में (केंद्र) सरकार रिपोर्ट जारी करे कि पंजाब के अस्पताल सबसे अच्छे हैं। मोदीजी और कैप्टन के बीच गुप-चुप दोस्ती है।

सोशल मीडिया यूजर्स ने सिसोदिया पर कसा तंज: दिल्ली के डिप्टी सीएम के इस तरह के ट्वीट के लिए सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें जमकर ट्रोल किया। दलीप पंचोली नाम के एक यूजर ने कहा, “हैंडसम, पंजाब के स्कूल अच्छे हैं नहीं है यह बात अलग है लेकिन जिन स्कूलों में तुम खुद अपने बच्चों को नहीं पढ़ा सकते उन्हें तुम बढ़िया कैसे कह सकते हो??”

विनोद जोशी नाम के यूजर ने लिखा, “इसमें गलत क्या है पंजाब के स्कूल और विश्विद्यालयों का दुनियाभर में नाम है अगर तुझे पता नहीं है तो विकिपीडिया में चेक कर ले। तेरे सरकारी स्कूल में कौन बच्चे पढ़ते हैं एक दिन किसी स्कूल की छुट्टी के वक़्त बाहर खड़े होकर उनकी बातें सुन लेना तेरे को सबकुछ समझ आ जायेगा।”