स्पेन ने काबुल में खत्म किया रेस्क्यू ऑपरेशन, ब्रिटेन भी आज पूरा कर लेगा लोगों को वापस लाने का काम

मैड्रिड. अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल में बीते दिन हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर हुए हमले के बाद से ही दुनियाभर के देश हरकत में आ गए है. अफगानिस्तान से लोगों को बाहर निकालने की कोशिश में जुटे देश रेस्क्यू अभियान खत्म कर रहे हैं. स्पेन ने काबुल से निकासी अभियान खत्म करने का ऐलान कर दिया है. स्पैनिश सरकार का कहना है कि उन्होंने दो सैन्य विमानों के दुबई पहुंचने के साथ ही अफगानिस्तान से अपना निकासी अभियान समाप्त कर दिया है. इसके अलावा ब्रिटेन काबुल एयरपोर्ट पर कुछ ही घंटों में अपना निकासी अभियान खत्म कर देगा. अब भी काबुल एयरपोर्ट पर किसी संदिग्ध गतिविधि की आशंका जताई जा रही है.

एयरपोर्ट पर फिर से आतंकी हमले का खतरा
फिदायीन हमलों से दहले काबुल एयरपोर्ट पर और भी आतंकी हमले हो सकते हैं. अमेरिकन ब्रॉडकास्ट कंपनी (ABC) के मुताबिक एयरपोर्ट के नॉर्थ गेट पर कार बम ब्लास्ट का खतरा है. ऐसे में काबुल स्थित अमेरिकी दूतावास ने नया अलर्ट जारी किया है.

Afghanistan Crisis Live: काबुल एयरपोर्ट पर हमले के 18 घंटे बाद रिकवर किए गए 95 अफगानियों के शव

कुछ घंटे में खत्म होगा ब्रिटेन का निकासी अभियान
काबुल एयरपोर्ट पर हुए तीन आत्मघाती धमाकों के बाद ब्रिटेन की तरफ से ये साफ कर दिया गया है कि वह कुछ ही घंटे में अफगानिस्तान से निकासी प्रक्रिया को खत्म कर देगा. ब्रिटिश रक्षा सचिव बेन वालेस ने स्काई न्यूज को बताया कि हम उन लोगों को निकाल रहे हैं , जिन्हें हम अपने साथ ले गए थे. लगभग 1,000 लोग अब हवाई क्षेत्र के अंदर हैं. इसके साथ ही जहां हम कर सकते हैं, वहां भीड़ से कुछ लोगों को ढूंढने के लिए रास्ता जारी रखेंगे, लेकिन कुल मिलाकर ये प्रक्रिया अब बंद हो रही है, हमारे पास कुछ ही घंटों का समय है.

निकासी अभियान जारी रखेगा अमेरिका
इस बीच काबुल में अमेरिका का निकासी अभियान जारी है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि उन्होंने अपने कमांडरों को ISIS-K के ठिकानों, नेतृत्व और सुविधाओं पर हमला करने की योजना तैयार करने के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने कहा कि काबुल में निकासी अभियान को 31 अगस्त तक पूरा करने के लिए वह अब भी प्रतिबद्ध हैं.

अफगानिस्तान की NSD ने पहले ही दे दी थी काबुल ब्लास्ट की सूचना, फेल क्यों हुआ अमेरिका?

बाइडन ने कहा, ‘हम अभियान पूरा कर सकते हैं और जरूर करेंगे. मैंने उन्हें यही आदेश भी दिया है. हम आतंकवादियों के आगे घुटने नहीं टेकेंगे. हम उन्हें हमारा अभियान रोकने नहीं देंगे. हम निकासी अभियान जारी रखेंगे.’ राष्ट्रपति ने कहा कि यह तालिबान के हित में है कि वह आईएसआईएस-के को अफगानिस्तान में और पैर ना पसारने दे. उन्होंने साथ ही कहा कि हवाईअड्डे पर हमले को अंजाम देने में तालिबान और आईएसआईएस की मिलीभगत का अब तक कोई सबूत नहीं मिला है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.