स्वामी ने कहा- कोरोना की तीसरी लहर होगी ज्यादा भयावह, गडकरी को कमान सौंपे मोदी, पीएमओ को बताया यूजलेस

भाजपा सांसद बोले, जैसे हम मुस्लिम आक्रमण और ब्रिटिश साम्राज्यवाद से उबरे वैसे ही कोरोना को भी जीत कर उभरेंगे। लगातार अटपटे बयान देने में लगे हैं डॉ स्वामी

Subramanyam Swami, BJP MP, PM Modi, Nitin Gadkari, Modi Government

भाजपा सांसद डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधा मोर्चा ले लिया है। उन्होंने बुधवार की शाम अपने एक ट्वीट में प्रधानमंत्री से इस्तीफा तो नहीं मांगा लेकिन यह सलाह तो दे ही डाली कि कोरोना से लड़ने का काम वे नितिन गडकरी को सौंप दें। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के आसरे रहना अब किसी काम का नहीं रह गया।

डॉ स्वामी ने अपने ट्वीट की शुरुआत भी बड़े ड्रामाई अंदाज़ में की है। लिखते हैः भारत देश जिस तरह मुस्लिम हमलावरों और ब्रिटिश साम्राज्यवादियों के मुकाबले विजेता होकर उभरा था, हम वैसे ही कोरोनावाइरस से भी पार पा लेंगे। उन्होंने कोरोना की तीसरी और ज्यादा खतरनाक लहर का जिक्र करते हुए कहा है कि यह लहर बच्चों को निशाना बनाएगी। लेकिन अगर कठोर अंकुश नहीं लगाया गया तो हम इस लहर से नहीं बच पाएंगे।

इन हालात का जिक्र करने के बाद डॉ स्वामी कहते हैः अतएव मोदी को कोरोना के खिलाफ जंग का जिम्मा गडकरी को सौंप देना चाहिए। पीएमओ पर भरोसा करना बेकार है। डॉ स्वामी ने तमाम कड़वाहटों के बाद भी प्रधानमंत्री के खिलाफ इतना तीखा बयान अभी तक नहीं दिया है। अब देखना है कि इस पर सरकार, भाजपा या खुद मोदी की क्या प्रतिक्रिया आती है। काफी कुछ मुमकिन है कि इसे अनसुना कर दिया जाए।

उल्लेखनीय है कि अभी दो दिन पहले भी उन्होंने एक अटपटा बयान दिया था, जिस पर भाजपा और संघ दोनों चुप्पी साध गए थे। इस बयान में डॉ स्वामी ने कहा था कि हिन्दुत्व के रथ पर भदेस, घटिया और आपराधिक तत्व सवार हो गए हैं जो हिन्दुओं के दुश्मनों को फायदा पहुंचा रहे हैं। इस बयान का मंतव्य न स्वामी ने खोला और न भाजपा ने। बात आई गई हो गई। लेकिन समझा जाता है कि भाजपा के विरोधी स्वामी के नए बयान को ले उड़ेंगे।

स्वामी इससे पहले भी पीएम मोदी और बीजेपी पर निशाना साध चुके हैं। बीते दिन उन्होंने गोदी मीडिया को निशाना बनाया था। यूपी पंचायत चुनाव के नतीजों पर मीडिया में छाई खामोशी पर सवाल उठाते हुए उनका ट्वीट दरअसल एक कटाक्ष था। उनका सवाल था कि बीजेपी की हार को गोदी मीडिया क्यों नहीं दिखा रहा है।