हंगर इंडेक्स में भारत 101वें पायदान तक फिसला, सरकार ने गणना के तरीके पर उठाए सवाल, सिब्बल ने कही ये बात

इस इंडेक्स में भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे है। इंडेक्स में पड़ोसी देश नेपाल 76वें, बांग्लादेश 76वें, म्यांमार 71वें और पाकिस्तान 92 नंबर पर है।

Global Hunger Index इस इंडेक्स में भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे है। (प्रतीकात्मक फोटो)

साल 2021 के ग्लोबल हंगर इंडेक्स (GHI) में भारत 7 पायदान नीचे खिसक गया है और 116 देशों की लिस्ट में 101वें स्थान पर आ गया है। बीते साल यानी 2020 में भारत 107 देशों की लिस्ट में 94वें स्थान पर था।

इस इंडेक्स में भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे है। इंडेक्स में पड़ोसी देश नेपाल 76वें, बांग्लादेश 76वें, म्यांमार 71वें और पाकिस्तान 92 नंबर पर है।

इस आंकड़े पर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने हैरानी जताई है। मंत्रालय ने कहा है कि हंगर इंडेक्स में एफएओ के अनुमान और अल्पपोषण के आधार पर भारत की रैंक को कम किया गया है, जिसमें जमीनी वास्तविकता और फैक्ट नहीं हैं।

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि इस रिपोर्ट को प्रकाशित करने के लिए सही से मेहनत नहीं की गई है और इसकी पूरी पद्धति में गंभीर खामियां हैं और ये अवैज्ञानिक है।

वहीं विपक्ष इस रैंकिंग को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साध रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि भारत अपने 2020 के 94वें स्थान से फिसलकर 101वें स्थान पर आ गया है, जो पाकिस्तान सहित अपने पड़ोसियों से बहुत पीछे है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट ने भारत में भूख के स्तर को खतरनाक करार दिया है। इसके बाद सिब्बल ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए एक ट्वीट किया, जिसमें कुछ आंकड़े दिए गए हैं।

बता दें कि GHI का कैलकुलेशन 4 इंडिकेटर्स से होता है, जिसमें अंडर नरिशमेंट, चाइल्ड वेस्टिंग, चाइल्ड स्टंटिंग और चाइल्ड मॉर्टेलिटी शामिल है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स की लिस्ट में भारत से पीछे केवल पापुआ न्यू गिनी, अफगानिस्तान, नाइजीरिया, कॉन्गो, मोजाम्बिक, सिएरा लियोन, तिमोर लेस्टे, हैती, लाइबेरिया, मेडागास्कर, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कॉन्गो, चैड, सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक, यमन और सोमालिया है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स के अनुसार, चीन, ब्राजील और कुवैत सहित 18 देशों ने 5 से कम के स्कोर के साथ इस लिस्ट में टॉप पोजीशन हासिल की है।

वहीं भारत के बारे में रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना और महामारी संबंधी प्रतिबंधों से लोग बुरी तरह प्रभावित हुए, जिससे ये दुनियाभर में सबसे ज्यादा ‘बाल बर्बादी दर’ वाला देश है।