हमारे नेता राम राज्य बनाते रह गए, पाकिस्तान-चीन ने अफगानिस्तान में खेल कर दिया; यहां राजनीति में चमचागीरी जरूरी- एक्टर का तंज

अफगानिस्तान पर हुए तालिबान के कब्जे को लेकर अब बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान ने भी ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने भारत के नेताओं पर भी जमकर निशाना साधा।

afghanistan, taliban, krk अफगानिस्तान को लेकर कमाल राशिद खान ने किया ट्वीट (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

अफगानिस्तान पर तालिबान द्वारा कब्जा कर लिया गया है, जिसके बाद से ही वहां लोगों में डर का माहौल है। आम जनता किसी न किसी तरह देश से निकलने और दूसरे देशों में शरण लेने की कोशिश कर रही है। अफगानिस्तान पर हुए तालिबान के कब्जे को लेकर अब बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान ने भी ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने भारत के नेताओं पर भी जमकर निशाना साधा। इसके अलावा अपने एक ट्वीट में कमाल राशिद खान ने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी को लेकर भी ट्वीट किया।

कमाल राशिद खान ने ट्वीट में अफगानिस्तान की चर्चा करते हुए लिखा, “हमारे नेता भारत को राम राज्य बनाने में व्यस्त रहे, उधर चीन और रूस ने मिलकर अफगानिस्तान में खेला कर दिया।” उनके इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर ने भी खूब कमेंट किये। रफीक नाम के यूजर ने लिखा, “कभी कभी आप भी लॉजिक की बात करते हो।” राम सागर नाम के यूजर ने लिखा, “सही कहा आपने।”

कमाल राशिद खान ने अपने एक ट्वीट में कश्मीर का जिक्र करते हुए लिखा, “चीन, रूस, पाकिस्तान, इरान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान की दोस्ती देखने के बाद मुझे इस बात से बिल्कुल भी हैरत नहीं होगी, अगर तालिबान अगले पांच सालों के अंदर-अंदर कश्मीर में भी घुस जाए।”

एक्टर कमाल राशिद खान यहीं नहीं रुके। उन्होंने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी पर ट्वीट करते हुए लिखा, “सुब्रमण्यम स्वामी एक बहुत ही पढ़े-लिखे नेता हैं, लेकिन बीते सात सालों में उन्हें एक भी पोस्ट नहीं मिली। यह इस बात का सबूत है कि मंत्री बनने के लिए शिक्षा की नहीं चमचागिरी की जरूरत है।”

सुब्रमण्यम स्वामी को लेकर किये गए केआरके के इस ट्वीट से सोशल मीडिया यूजर ने भी सहमति जाहिर की। राहुल नाम के यूजर ने लिखा, “स्वामी को जरूर कोई पद देना चाहिए था। वह एक ईमानदार नेता हैं।”

भास्कर नाम के यूजर ने लिखा, “सुब्रमण्यम स्वामी एक महान इंसान हैं। मैं उन्हें पीएम के तौर पर देखना चाहता हूं। वह पेट्रोल के बढ़ते दामों और अंधभक्तों के भी खिलाफ हैं।” वहीं एक यूजर ने उनकी बातों को खारिज करते हुए कहा, “गलत, आप यह बात कुछ सालों में ही समझ जाएंगे।”