हमास ने इजरायल पर दागे करीब 300 रॉकेट, भारतीय महिला की मौत; लॉड शहर में इमरजेंसी लागू

साल 2014 के बाद दोनों पक्षों की तरफ से सबसे घातक कार्रवाई हुई हैं. (फाइल फोटो: AP)

साल 2014 के बाद दोनों पक्षों की तरफ से सबसे घातक कार्रवाई हुई हैं. (फाइल फोटो: AP)

Israel-Hamas Fight: रिपोर्ट्स के अनुसार, हमले के वक्त सौम्या एक घर में बुजुर्ग महिला की देखभाल कर रही थीं. इस घटना में बुजुर्ग महिला की जान तो बच गई, लेकिन सौम्या की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बुजुर्ग महिला को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

  • Share this:

गाजा. इजरायल (Israel) और हमास (Hamas) के बीच हफ्तों से जारी तनाव अब हिंसक हो चुका है. रातों-रात दोनों पक्षों के बीच हुए हमलों में मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है. ताजा अपडेट के मुताबिक, हमास ने भी इजरायल पर करीब 100 रॉकेट दागे हैं, जिनमें एक भारतीय की भी मौत हुई है. खबर है कि इस जंग में अब तक 35 फलस्तीनी और 3 इजरायली मारे जा चुके हैं.
बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार रात से अब तक इजरायल की ओर 300 से ज्यादा रॉकेट दागे जा चुके हैं. वहीं, इजरायल का कहना है कि इसके जवाब में उन्होंने गाजा में 150 स्थानों पर हमले किए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमले में मारी गई महिला का नाम सौम्या संतोष है, जो बीते 7 सालों से इजरायल में रह रही थी. रिपोर्ट्स के अनुसार, हमले के वक्त सौम्या एक घर में बुजुर्ग महिला की देखभाल कर रही थीं. इस घटना में बुजुर्ग महिला की जान तो बच गई, लेकिन सौम्या की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बुजुर्ग महिला को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

खास बात है कि साल 2014 के बाद दोनों पक्षों की तरफ से सबसे घातक कार्रवाई हुई हैं. लगातार बढ़ते इस जमीनी संघर्ष को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी चिंतित नजर आ रहा है. कई देशों ने जारी हिंसा को रोकने के लिए कहा है. इधऱ इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यन्याहू ने कहा है कि हमास ने यरुशल में रॉकेट दागकर ‘सीमा पार’ की है. साथ ही उन्होंने हमास पर हमले और बढ़ाने की बात कही है. बीबीसी के मुताबिक, इस बार संघर्ष की शुरुआत तब हुई, जब पूर्वी युरुशलम में फलस्तीनी परिवारों को निकालने की धमकियां दी गईं. इसके बाद इलाके में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच कई झड़प हुईं.

आपातकाल का ऐलान

इजरायल और फलस्तीन के बीच जारी हिंसा के चलते प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने लॉड शहर में आपातकाल की घोषणा की है. सरकार ने प्रदर्शनों के चलते यह फैसला लिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, द टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक, इस दौरान तीन धार्मिक स्थल और कई दुकानों को आग लगा दी गई है. प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया.