हर की पौड़ी पर ‘काला चश्मा जचदा’ गाने पर बनाई Reel, देखकर भड़के साधु-संत

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ है, जिसमें कुछ युवक और युवतियां धर्मनगरी हरिद्वार में फिल्मी गाने पर नाचते-गाते दिखे. इसे लेकर गंगा सभा (Haridwar Ganga Sabha) के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ ने सख्त टिप्पणी की है. वशिष्ठ ने कहा कि धर्मनगरी की मर्यादा से खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा. 

उन्होंने वीडियो के जरिए संदेश जारी किया. तन्मय वशिष्ठ ने कहा कि हर की पौड़ी पर अमर्यादित वीडियो या फिर सोशल मीडिया के लिए रील बनाने को अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अब यदि कोई भी सोशल मीडिया में अपने लाइक और कमेंट बढ़ाने के लिए तीर्थ की मर्यादा के साथ खिलवाड़ करेगा तो उसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

दरअसल, हाल ही में एक वीडियो सोशल मीडिया पर निकिता विरमानी के नाम की आईडी से पोस्ट किया गया था, जिसमें वह रात के समय हर की पौड़ी पर अपने साथियों के साथ डांस करती हुई दिखाई दे रही हैं. इस पर गंगा सभा ने एसएसपी को लिखित शिकायत करते हुए कार्रवाई करने की मांग की है. एसएसपी को दी गई शिकायत में वीडियो भी अटैच किया गया है.

श्री गंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ ने कहा कि हर की पौड़ी रतन धर्म की सनातन धर्म की आस्था का केंद्र बिंदु है और इसकी मर्यादा को बनाए रखना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है. हमें ध्यान रखना चाहिए कि हम ऐसा कोई भी कार्य हर की पौड़ी पर ना करें जिससे हर की पौड़ी क्षेत्र के श्रद्धालुओं की आस्था को ठेस पहुंचे. लेकिन कुछ समय से ऐसा देखने में आ रहा है कि लोग रील्स बनाकर सोशल मीडिया पर प्रसारित कर रहे हैं, जिससे हर की पौड़ी क्षेत्र की मर्यादा भंग होती है और श्रद्धालुओं की भावना को ठेस पहुंच रही है.

ऐसा ही एक मामला हाल में आया है निकिता नाम की एक युवती ने अपने साथियों के साथ रील बना कर सोशल मीडिया पर प्रसारित किया जो हर की पौड़ी की मर्यादा को अनुरूप नहीं है. हमने इस संबंध में एक लिखित शिकायत एसएसपी को दी है और वीडियो भी उपलब्ध कराया है. उनसे इस मामले में कार्रवाई करने की मांग की है.

तन्मय वशिष्ठ ने देशवासियों से यह भी अपील की है ऐसा कोई भी कार्य जिससे विश्व प्रसिद्ध स्थान हर की पौड़ी की मर्यादा को ठेस पहुंचे न करें और अगर किसी की जानकारी में कोई भी ऐसा करता हुआ दिखता है तो उसकी जानकारी तुरंत हमें उपलब्ध कराएं. ताकि उसमें समुचित कार्रवाई की जा सके.