हाई क्वॉलिटी का ‘चरस’ है शायद-फेसबुक इंस्टा ब्लॉक के लिए कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार पर मढ़ा दोष, तो बोल पड़ीं बीजेपी लीडर

डॉ उदित राज ने बीजेपी पर कमेंट करते हुए कहा- ‘लगता है कि फेसबुक, व्हाटसऐप और इंस्टाग्राम को जानबूझकर ब्लॉक किया गया है।’

Punya Prasun Bajpai, Punja Prasun Bajpai Furious at PM Modi प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सऐप की सेवाएं मंगलवार को 6 घंटे तक ब्लॉक होने के बाद अब बहाल हो गई हैं। लेकिन सोशल मीडिया पर इसके लिए मोदी सरकार को दोष दिया गया। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी के आंदोलन को दबाने के लिए मोदी सरकार ने ऐसा किया।

इसको लेकर कांग्रेस नेता उदित राज ने जब मोदी सरकार पर आरोप लगाया तो बीजेपी नेता नीतू डबास ने भी उन्हें करारा जवाब दिया। डॉ उदित राज ने कहा था- ‘लगता है कि फेसबुक, व्हाटसऐप और इंस्टाग्राम को जानबूझकर ब्लॉक किया गया है। ताकि प्रियंका गांधी के आंदोलन को रोका जा सके।’ कांग्रेस नेता उदित राज के इस पोस्ट पर नीतू डबास ने कमेंट कर जवाब दिया- ‘NCB की एक रेड तो यहां भी पड़नी चाहिए। बहुत ही हाई क्वालिटी का ‘चरस’ है शायद।’

बीजेपी नेता के इस पोस्ट पर ढेरों लोगों के रिएक्शन भी सामने आने लगे। जस्विंदर सिंह नाम के एक यूजर ने लिखा- ‘उदित राज जी जब तक बीजेपी में थे तब उनमें सही बोलने की हिम्मत थी।’ सुधीर सिंह नाम के यूजर ने कहा- ‘इन्हें पता नहीं है, पूरे वर्ल्ड में फेसबुक इंस्टाग्राम व्हाट्सएप का सर्वर डाउन था। इनको तो लगता है इस देश में कुछ भी होता है तो मोदी ने ही किया होगा। इनका नशा भी इटली से आता है।’

डीके पांडे ने कहा- जोकरों की संख्या बहुत है कांग्रेस में। बता दें, लखीमपुर खीरी में हिंसा के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा घटनास्थल के लिए निकली थीं। इस दौरान प्रियंका गांधी रास्ते में छिप कर जा रही थीं, लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोककर हिरासत में ले लिया था। इस घटना को व्हाटसऐप और फेसबुक ब्लॉक होने जोड़कर देखा जा रहा है।

वहीं फेसबुक कर्मचारियों के हवाले से समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया आखिर क्या परेशानी थी कि फेसबुक, इंस्टा और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया ऐप्स कुछ वक्त के लिए बाधित रहीं! उन्होंने बताया कि यह आउटेज इंटरनल राउटिंग में चूक के चलते हुआ। हालांकि, विभिन्न सुरक्षा विशेषज्ञों की मानें तो इन तीनों प्लैटफॉर्म्स का डाउन पड़ना अंदरूनी गलती थी, जिसमें किसी व्यक्ति विशेष की भूमिका होने की आशंका बेहद कम है।