हायर एजुकेशन के लिए पर्सनल लोन लेते समय इन बातों का रखें ध्‍यान

एक स्‍पेसिफि‍क फाइनेंस ऑप्‍शन पर अंतिम निर्णय लेने से पहले एक उधारकर्ता को सभी रीपेमेंट तरीकों का मूल्यांकन करना चाहिए। किसी को केवल तभी ऋण का विकल्प चुनना चाहिए जब वे सुनिश्चित हों कि वे अपनी जेब से इन खर्चों को पूरा करने में सक्षम नहीं होंगे।

Personal Loan EMI देश के कई बैंक काफी सस्‍ती दरों पर पर्सनल लोन प्रोवाइड करा रहे हैं। (Photo By Indian Express Archive)

मौजूदा समय महंगाई बढ़ने की वजह से लोन ऋण कई लोगों के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। यहां तक कि एजुकेशन के लिए आपको बैंक से लोन या फाइनेंस मिल रहा है। जो लोग हायर स्‍टडी करना चाहते हैं, उनके लिए यह काफी फायदेमंद होता है। आमतौर पर लेंडर्स अकेले छात्रों को एजुकेशन लोन नहीं देते हैं। अधिकतर लोन लेने वालों को एक को-एप्‍लीकेंट की जरुरत है।

एजुकेशन लोन के लिए क्‍या हैं शर्तें
एजुकेशन लोन लेने के लिए किसी पाठ्यक्रम में प्रवेश की पुष्टि करने वाला एक लेटर होना चाहिए। विशेषज्ञों का कहना है कि बिना कंफर्मेशन के लेंडर्स एजुकेशन लोन ऑफर नहीं करेंगे। इस तरह के लोन आमतौर पर ट्यूशन और होस्‍टल फीस, किताबों की लागत और कुछ दुर्लभ मामलों में, यहां तक कि कंप्यूटर को भी कवर करते हैं। कुछ लेंडर्स ने स्‍पेशल कोर्स के लिए मैक्‍सीमम लोन अमाउंट की लिमिट तय की हुई है।

एजुकेशन लोन के मुकाबले पर्सनल लोन हैं ज्‍यादा आसान
दूसरी ओर, पर्सनल लोन लेना थोड़ा आसान होता है। हमारे सहयोगी फाइनेंश‍ियल एक्‍सप्रेस से बात करते हुए एमपॉकेट के सीईओ और फाउंडर गौरव जालान कहते हैं कि एजुकेशन लोन लेने की जगह ज्‍यादा आसान पर्सनल लेने का ऑप्‍शन मौजूद है। एजुकेशन के लिए लिया गया है पर्सनल लोन का उपयोग एजुकेशन से संबंधित सभी खर्चों को कवर किया जा सकता है।

बैंक पर्सनल लोन का कारण जानने का नहीं करते प्रयास
जिसमें पाठ्यक्रम शुल्क, आवास, यात्रा, रहने का खर्च, पाठ्यक्रम सामग्री और यहां तक कि छोटे विविध खर्च भी शामिल हो सकते हैं, क्योंकि लेंडर्स पर्सनल लोन के कारण जानने का प्रयास नहीं करते हैं। साथ ही पर्सनल लोन की आवेदन प्रक्रिया कम बोझिल होती है, डॉक्‍युमेंट्स भी ज्‍यादा नहीं लगते हैं। साथ ही आपको अमाउंट भी जल्‍दी मिल जाता है।

पर्सनल लोन की ब्‍याज दरें होती हैं ज्‍यादा
गौरव जालान आगे कहते हैं कि ऐसे पर्सनल लोन के असुरक्षित होने के कारण उन्हें कोलैटरल की आवश्यकता नहीं होती है और न ही को अप्‍लीकेंट की जरुरत नहीं होती है। हालांकि पर्सनल लोन के लिए उपलब्ध राशि आमतौर पर एजुकेशन लोन के मुकाबले काफी कम होगी और ब्याज दरें आम तौर पर अधिक होंगी। पेरेंट्स अपने बच्चे या छात्रों की ओर से उस समय उनकी आवश्यकताओं के आधार पर छोटे-टिकट या बड़े-टिकट वाले पर्सनल लोन का लाभ ले सकते हैं। जालान कहते हैं कि पर्सनल लोन आज की दुनिया में शिक्षा के वित्तीय बोझ को कम करने में मदद कर सकते हैं।

इन बातों का ध्‍यान रखना है जरूरी
विशेषज्ञों का सुझाव है कि सभी उधारकर्ताओं को सभी रीपेमेंट ऑप्‍शंस, लोन टेप्‍योर और लोन इंट्रस्‍ट रेट पर ध्यान देना चाहिए, चाहे आप एजुकेशन के लिए पर्सनल लोन लें या फ‍िर एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करें। जालान कहते हैं कि उधारकर्ता को एक पर्सनल लोन या एजुकेशन लोन लेने से सभी तरीकों का मूल्यांकन करना चाहिए। किसी को केवल तभी लोन का ऑप्‍शन चुनना चाहिए जब वे सुनिश्चित हों कि वे अपनी जेब से इन खर्चों को पूरा करने में सक्षम नहीं होंगे। इसलिए, अपनी आवश्यकताओं की सावधानीपूर्वक गणना करें और उसके बाद लोन के लिए आवेदन करें।