“हिंदुस्तान की पीड़ा ही BJP है”, SP प्रवक्ता ने कहा- पढ़ लिखकर आया करो; मिला जवाब- गंवार आप होंगे…

डिबेट में एंकर रूबिका लियाकत ने दोनों को एक साथ नहीं बोलने को कहा। वे बोलीं कि अपशब्दों का प्रयोग बिल्कुल न करें और न ही कोई बीच में बोले। हालांकि उनके कहने के बावजूद दोनों पक्ष एक साथ बोलना जारी रखे रहे।

vaccination, vaccine, TV debate

पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यो के चुनाव परिणाम आने और जीत-हार का फैसला हो जाने के बाद अब फिर से वैक्सीन को लेकर टीवी चैनलों पर डिबेट शुरू हो गई है। देशभर में हजारों लोगों के कोरोना वायरस से मरने और संक्रमित होने के बाद लगातार अपर्याप्त ऑक्सीजन सप्लाई और टीकों की कमी को लेकर सवाल उठ रहे हैं। इसको लेकर राजनीतिक दलों के नेताओं और प्रवक्ताओं में बहस चल रही है।

न्यूज चैनल एबीपी के हुंकार कार्यक्रम में एंकर रूबिका लियाकत ने आधी-अधूरी तैयारी के बीच 18 से 44 वर्ष के लोगों को टीका लगाने की सरकार की घोषणा का पहले दिन ही पूरा नहीं हो पाने पर सवाल पूछा तो समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि हिंदुस्तान की पीड़ा ही BJP है। यह सिर्फ जुमलेबाजी करने वाली पार्टी है। उनके बोलने के बीच में ही भाजपा प्रवक्ता जफर इस्लाम ने कहा कि इनको वैक्सीन चाहिए। बीजेपी वाली वैक्सीन पर बात हो रही है। उनके जवाब में सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि बीच में अनपढ़ों की तरह बीच में न बोलिए आप, पढ़-लिखकर आया करो। जफर इस्लाम ने कहा कि अनपढ़ गंवार आप होंगे।

डिबेट में एंकर रूबिका लियाकत ने दोनों को एक साथ नहीं बोलने को कहा। वे बोलीं कि अपशब्दों का प्रयोग बिल्कुल न करें और न ही कोई बीच में बोले। एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने के बजाए सवाल का जवाब दीजिए। हालांकि उनके कहने के बावजूद दोनों पक्ष एक साथ बोलना जारी रखे रहे।

इस बीच राष्ट्रीय राजधानी के 41 अस्पतालों ने दिल्ली सरकार को तीन मई को ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए एसओएस (जीवन रक्षा संदेश) भेजा, जहां करीब 7000 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। यह जानकारी मंगलवार को आप विधायक राघव चड्ढा ने दी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले हफ्ते प्रतिदिन औसतन 393 मीट्रिक टन (एमटी) ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई, जबकि जरूरत 976 मीट्रिक टन की थी।

चड्ढा ने कहा, “41 अस्पतलों ने सोमवार को दिल्ली सरकार को एसओएस संदेश भेजा जहां 7142 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे।” उन्होंने कहा कि ‘टीम केजरीवाल’ ने सभी एसओएस कॉल का तत्परता से जवाब दिया और इन अस्पतालों को 21.3 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की।