हिमा दास ने किया कमाल, 18 महीने बाद मैदान पर उतरते ही जीतीं गोल्ड मेडल; 100 मीटर में टॉप पर रहीं दुती चंद

21 साल की हिमा ने 23.31 सेकंड में इस रेस को अपने नाम कर लिया। 400 मीटर में 2018 में विश्व जूनियर चैम्पियन रहीं हिमा ने इससे पहले केवल तीन बार (2018 में दो बार और 2019 में एक बार) ही इससे कम समय में रेस जीती हैं।

AuthorRohit Raj Edited By ROHIT RAJ नई दिल्ली | February 26, 2021 10:55 AM
Hima Das, Hima Das wins, gold, Sprinter, Dutee Chand

भारत की स्टार धाविका हिमा दास ने एक साल बाद मैदान पर उतरते ही कमाल का प्रदर्शन किया। उन्होंने इंडियन ग्रां प्री 2 के महिला 200 मीटर स्पर्धा में गोल्ड मेडल अपने नाम कर दिया। पटियाला के ताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान परिसर में उन्होंने गुरुवार (25 फरवरी) को यह उपलब्धि हासिल की। कोरोनावायरस महामारी के कारण हिमा लंबे समय से मैदान पर नहीं उतरी थीं। इस दौरान उनकी प्रैक्टिस भी बाधित हुई थी।

वहीं, दुती चंद ने महिला 100 मीटर स्पर्धा 11.44 सेकंड में जीती और उन्होंने पिछले हफ्ते पहली ग्रां प्री में हासिल किए गए 11.51 सेकेंड के समय में सुधार किया। वह 11.15 सेकंड के मानक समय से ओलंपिक खेलों के लिये क्वालीफाई करने की उम्मीद लगाए हैं। वह अपनी रैंकिंग के आधार पर भी टोक्यो ओलंपिक में 56 शुरुआत करने वाले एथलीट के तौर पर क्वालीफाई कर सकती हैं। वह इस समय विश्व रैंकिंग में 33वें नंबर पर हैं।

21 साल की हिमा ने 23.31 सेकंड में इस रेस को अपने नाम कर लिया। 400 मीटर में 2018 में विश्व जूनियर चैम्पियन रहीं हिमा ने इससे पहले केवल तीन बार (2018 में दो बार और 2019 में एक बार) ही इससे कम समय में रेस जीती हैं। हिमा अभी तक आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई नहीं कर पाई हैं। उन्होंने अगस्त 2019 में अपनी अंतिम प्रतिस्पर्धी रेस में हिस्सा लिया था। कोविड-19 महामारी के बाद पूरा घरेलू कैलेंडर अस्त व्यस्त हो गया और कोई भी भारतीय एथलीट विदेश में किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले सका।

पुरूषों की 400 मीटर स्पर्धा में दिल्ली के अमोज जैकब ने 46 सेकेंड के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय से पहला स्थान हासिल किया। वहीं 200 मीटर स्पर्धा में अरोकिया राजीव ने मोहम्मद अनस याहिया को पछाड़कर 21.24 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता। केरल के एम श्रीशंकर ने लंबी कूद स्पर्धा और पुरूष शॉट पुट में तजिंदरपाल सिंह ने पहला स्थान हासिल किया। भाला फेंक स्पर्धा में उत्तर प्रदेश की अनु रानी ने 61.22 के प्रयास से स्वर्ण पदक जीता।