‘हीर-रांझा’ की शूटिंग में तबस्सुम से एक ही शेर बार-बार सुनते थे राजकुमार, उनकी मौत के बाद अभिनेत्री ने बताई थी वजह

फिल्म ‘हीर रांझा’ में काम करने के दौरान राजकुमार तबस्सुम से एक ही शेर बार- बार सुना करते थे। जब वो नहीं रहे तब तबस्सुम को समझ आया कि उन्हें इस शेर से इतना लगाव क्यों था।

raaj kumar, raaj kumar movies, tabassum

राजकुमार ने अपने अलग अंदाज और दमदार डायलॉग्स से दर्शकों के दिलों पर कई सालों तक राज किया। वो बेहद ही अनुशासित जीवन जीते थे और खुद्दार भी उतने ही थे। इतने खुद्दार कि मरने के बाद भी उन्होंने किसी का एहसान अपने ऊपर नहीं रखा। राजकुमार ने मरने से पहले ही अपनी वसीयत में यह बात कह दी थी कि फिल्म इंडस्ट्री में किसी को उनकी मौत की खबर न दी जाए और केवल परिवार की मौजूदगी में खामोशी से उनका अंतिम संस्कार किया जाए। उनके साथ फिल्में कर चुकीं अभिनेत्री तबस्सुम से बताया था कि फिल्म ‘हीर रांझा’ में काम करने के दौरान राजकुमार उनसे एक ही शेर बार-बार सुना करते थे। जब वो नहीं रहे तब तबस्सुम को समझ आया कि उन्हें इस शेर से इतना लगाव क्यों था।

तबस्सुम ने अपने यूट्यूब चैनल ‘तबस्सुम टॉकीज’ में बताया था, ‘1970 में मैंने राजकुमार के साथ फिल्म हीर रांझा में काम किया था। उस फिल्म में रांझा की सात भाभियां थीं जिनमें से मैं एक थी। उस फिल्म की सबसे बड़ी खासियत ये थी कि फिल्म के सभी डायलॉग्स नज़्म में थे, जिन्हें उर्द के मशहूर शायर कैफ़ी आज़मी ने लिखे थे।’

तबस्सुम से आगे बताया था, ‘राजकुमार जी को शेरो-शायरी का बड़ा शौक था। शूटिंग के दौरान अक्सर वो मुझसे एक ही शेर सुना करता थे, बार-बार सुना करते थे। उस वक्त तो मुझे समझ नहीं आया कि वो ये शेर क्यों सुनते हैं लेकिन जब उनका निधन हो गया और पता चला कि उन्होंने वसीयत की थी कि मेरा अंतिम संस्कार बिल्कुल खामोशी से किया जाए, गुपचुप तरीके से परिवार अंतिम संस्कार कर दे। तब पता चला कि वो शेर बार- बार राजकुमार मुझसे क्यों सुनते थे।

तबस्सुम ने राजकुमार को जो शेर सुनाया था वो कुछ इस प्रकार था – ज़िंदगी चलते कटी, कंधो पर आए कब्र तक, चार कदम के वास्ते, गैरों का एहसान हो गया। तबस्सुम ने बताया कि राजकुमार नहीं चाहते थे कि उनके अंतिम संस्कार में लोग शामिल होकर उन्हें कंधा दें और उनका एहसान उनके ऊपर रह जाए।

राजकुमार के बेबकीपन के किस्से भी बड़े मशहूर हैं। कहा जाता है कि वो घमंडी थे लेकिन उनके साथ काम करने वाले लोग बताते हैं कि उनका अंदाज ही वही था, वो किसी का बुरा नहीं सोचते थे। अभिनेत्री जीनत अमान के साथ भी उनका एक किस्सा बड़ा मशहूर है। जीनत उस जमाने की मशहूर एक्ट्रेस थीं। उनके किसी फिल्म का प्रीमियर चल रहा था और राजकुमार भी वहीं मौजूद थी।

जीनत राजकुमार के पास गईं और उन्हें नमस्कार किया तो राजकुमार ने उनकी तरफ देखा और कहा कि खूबसूरत हो, फिल्मों में ट्राई क्यों नहीं करती। उनकी यह बात सुन जीनत झेंप गईं थीं।