1 टेंट में 20 बगैर मास्क पहने रहेंगे, तो कैसे चलेगा?- पत्रकार ने पूछा; टिकैत बोले- फ्लैट में कितने लोग रहते हैं?

टिकैत ने कहा “जैसे आप फ्लैट में रहते हो वैसे ही हम टैंट में रह रहे हैं। एक बार वहां जाकर तो देखो। किस तरह से लोग वहां रेह रहे है। कैस कोरोना के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग कर रहे हैं। कोरोना आंदोलन से नहीं फैल रहा। कोरोना कॉलोनी और शहर में फैल रहा है।”

TV debate, republic TV, R bharatm kisan andolan, farmers protest, farm bill, covid 19, corona virus, rakesh tikait, jansatta

भारत में कोरोना की दूसरी लहर का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके बावजूद मोदी सरकार के तीन कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन अब भी जारी है। इसको लेकर टीवी न्यूज़ चैनल ‘रिपब्लिक भारत’ के शो ‘पूछता है भारत’ में एक डिबेट देखने को मिली। इस डिबेट में न्यूज़ एंकर ऐश्वर्य ने भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत से आंदोलन खत्म करने की बात कही।

रिपब्लिक टीवी के एंकर ने टिकट से कहा “कोरोना को देखते हुए आप लोग आंदोलन कुछ दिन के लिए बंद कर दीजिये। आपको लोग फॉलो करते हैं। इसीलिए मैं आप से सवाल पूछ रहा हूं। आपके पिता बाबा टिकैत से लेकर चौधरी चरण सिंह तक उन्होने सिर्फ किसान विषयों पर नहीं हर मुद्दे को उठाया है। ये जो बीमारी आई है ये फर्क नहीं करती। अस्पतालों की क्या हालत है ये आप भी जानते हो, मैं भी जनता हूंम उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी और हरियाणा के सीएम खट्टर भी जानते हैं।”

टीवी एंकर ने कहा “ऐसे हालत में अगर एक टैंट में 20 लोग रहेंगे तो संक्रमण के फैलने का खतरा है। आप विरोध करो तीन महीने के बाद दोबारा शुरू कर देना। तीन महीने के लिए इसे बंद क्यों नहीं कर देते।” इसपर टिकैत ने कहा “आपके घर में, फ्लैट में कितने लोग रहते हैं? आप बात सुनते नहीं बस बोलते ही जाते हो। जब सवाल पूछा है तो जवाब भी सुनो ना।”

टिकैत ने कहा “जैसे आप फ्लैट में रहते हो वैसे ही हम टैंट में रह रहे हैं। एक बार वहां जाकर तो देखो। किस तरह से लोग वहां रेह रहे है। कैस कोरोना के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग कर रहे हैं। कोरोना आंदोलन से नहीं फैल रहा। कोरोना कॉलोनी और शहर में फैल रहा है।”

टिकैत ने कहा “अगर कोई बीमारी फैल रही है तो उसका इलाज़ अस्पताल है। उनसे पूछो ये नहीं कि आंदोलनकारी कोरोना फैला रहे हैं। ये 13वां अटैक है आंदोलनकारियों के ऊपर। हमें हटा नहीं पाये तो अब आप लोग नया फंडा कोरोना लेकर आए हो।”

राकेश टिकैत ने कहा “ऑक्सीजन है नहीं, अस्पताल है नहीं, लोग सड़कों पर पड़े हैं। अगर कोई बीमारी है तो उसका इलाज अस्पताल है। आंदोलन से कोरोना नहीं फैल रहा है। बीमारी पूरे गांव में फैल रही है।” किसान नेता ने कहा कि सरकार को आज नहीं तो 6 महीने बाद में ही बात करनी पड़ेगी।