10 साल CM रहीं ममता बनर्जी को नंदीग्राम में उन्हीं की जनता ने हरा दिया- बोले BJP प्रवक्ता तो टीएमसी नेता ने दिया करारा जवाब

पश्चिम बंगाल चुनाव में TMC को भारी जीत मिली है हालांकि ममता बनर्जी अपने विधानसभा क्षेत्र नंदीग्राम से हार गईं। इसी बात को लेकर बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और टीएमसी नेता तौसीफ खान के बीच टीवी डिबेट के दौरान बहस हो गई।

mamata banerjee, west bengal assembly election 2021, gaurav bhatia

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं जिनमें ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस 210 से अधिक सीटें जीत चुकी है। यह तीसरी बार होगा जब ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनेंगी। उन्हें विधायक दल का नेता भी चुन लिया गया है और वो 5 मई को शपथ ग्रहण करेंगी। इस चुनाव में टीएमसी को जो एक सबसे बड़ा झटका लगा वो ये कि ममता बनर्जी अपने विधानसभा क्षेत्र नंदीग्राम से हार गईं। बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी ने उन्हें शिकस्त दी है। इसी बात को लेकर बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और टीएमसी नेता तौसीफ खान के बीच टीवी डिबेट के दौरान बहस हो गई।

दरअसल बीजेपी जो इस चुनाव में 200 से अधिक सीटों के साथ जीतकर सरकार बनाने का दावा कर रही थी, महज़ 77 सीटों पर ही सिमट गई। इस बात पर न्यूज 18 के डिबेट शो ‘आर पार’ में तौसीफ खान ने कहा कि बीजेपी केवल 77 सीटों पर ही सिमट गई, बंगाल की जनता ने बीजेपी को नकार दिया।

उनकी इस बात पर शो की एंकर प्रीति रघुनंदन ने उनसे कहा, ‘आपके बात का जवाब गौरव भाटिया से मैं ले रही हूं लेकिन ये भी तो आप बताइए न कि 3 से 77 पर बीजेपी कैसे पहुंच गई?’ उनकी बात पर टीएमसी नेता ने कहा, ‘आप तो ऐसे प्रोजेक्ट करती हैं जैसे कि उन्हें बड़ी जीत मिल गई हो। पिछले 2 सालों में बीजेपी की लोकप्रियता घटी है। लोगों ने बीजेपी की नफरत, सांप्रदायिकता वाली राजनीति को पसंद नहीं किया है।’

गौरव भाटिया बोलने की कोशिश कर रहे थे लेकिन तौसीफ खान लगातार बोले जा रहे थे। इस पर गौरव भाटिया भड़क गए और बोले, ‘इन्हें पहले चुप करा लीजिए। अपनी बारी में बहुत बोले अब चुप हो जाइए। सबसे पहले ये बताईए कि कानून व्यवस्था बनाए रखना किसका काम है? हमारे कार्यालय जलाए जा रहे हैं, कार्यकर्ताओं को मारा जा रहा है। इस पर कोई उत्तर  नहीं, इतना भी नहीं कहा कि ये गलत है।’

वो आगे बोले, ‘मत भूलिए कि बिहार में बीजेपी की सरकार बनी, 2019 में लोगों ने मोदी को बहुमत दिया। नंदीग्राम में…10 साल मुख्यमंत्री रहीं ममता बनर्जी चुनाव हार जाती हैं। ये क्या दिखाता है? ममता बनर्जी की विधानसभा क्षेत्र में उन्हीं की जनता ने उन्हें हरा दिया। इलेक्शन कमिशन ऑफ़ इंडिया से ममता बनर्जी कब माफी मांग रही हैं? निष्पक्ष चुनाव कराया उन्होंने तभी आप जीते।’

बहरहाल, ममता बनर्जी ने अपनी हार को लेकर कहा है कि वो चुनाव आयोग के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएंगी। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने आधिकारिक घोषणा के बाद नतीजे बदल दिए। आपको बता दें कि शुभेंदु अधिकारी नंदीग्राम से 1,956 वोटों से जीते हैं।