“12 या 11…जो भी बच्चे, ये आते हैं भाग्य से”, जब संतानों की संख्या के सवाल पर बोले थे लालू- बहुत सारे लोग लाचारी ब्रह्मचारी हो जाते हैं

लालू यादव ने एकबार संसद में कहा था कि अन्ना हजारे के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए ‘ऑल इंडिया अन्ना बचाव स्वास्थ्य संघर्ष समिति’ बनाया जाए क्योंकि उनको बचा कर रखना जरूरी है।

lalu yadav, rjd, bihar

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव 1 मई को तीन साल बाद जमानत पर जेल से रिहा हुए। चारा घोटाले मामले में तमाम कानूनी दांव पेंच के बाद लालू प्रसाद जेल से बाहर आए। ठेठ देसी अंदाज और हाजिर जवाबी के लिए मशहूर लालू प्रसाद यादव से जब एक इंटरव्यू के दौरान संतानों की संख्या को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि 12 हो या 11 जो भी बच्चे हैं, ये अपने भाग्य से आते हैं। 

दरअसल साल 2012 में इंडिया टीवी पर आयोजित आप की अदालत कार्यक्रम में जब एंकर रजत शर्मा ने समाजसेवी अन्ना हजारे से जुड़ा एक सवाल पूछते हुए कहा कि वो कहते हैं कि उन्होंने शादी नहीं की इसलिए उन्होंने 13 दिनों तक धरना दिया था। जिसके 10-12 बच्चे हैं वो कैसे धरना दे पाएंगे। इसपर जवाब देते हुए लालू यादव ने कहा था कि 12 हो या 11, जो भी बच्चे हैं, ये अपने भाग्य से आते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमें ब्रह्मचारियों के बारे में खूब जानकारी है। लेकिन मैं किन्हीं का नाम नहीं लेना चाहता हूं, बहुत सारे लोग लाचारी ब्रह्मचारी हो जाते हैं।

आगे लालू यादव ने अपने अंदाज में कहा कि जब मैं लाचारी ब्रह्मचारी को देखता हूं, तो मुझे मुस्कान आ जाता है। इस इंटरव्यू के दौरान लालू यादव ने अपनी शादी की कहानी भी दर्शकों को सुनाई। लालू यादव ने कहा कि पहले बाल विवाह के दौरान लड़की का गौना हुआ करता था, जब लड़की व्यस्क हो जाती थी तो गौना होता था और मेरा भी गौना हुआ है। हमलोगों ने देखा भी नहीं था कि राबड़ी देवी का रूप रंग कैसा है।

इसके बाद जब एंकर रजत शर्मा ने लालू यादव से पूछा कि क्या आपको यह पता नहीं था कि आपकी शादी कब और किससे होने वाली है तो उन्होंने कहा कि ये कहां किसी को पता रहता है। कब शादी होगा, किससे शादी होगा और कैसे होगा लेकिन ये तो पक्का ही था कि शादी होगा। लालू यादव के इतना कहते ही कार्यक्रम में मौजूद रहे दर्शक जोर जोर से ठहाके लगाकर हंसने लगे।    

साथ ही इसी कार्यक्रम के दौरान जब लालू यादव से पूछा गया कि आप अन्ना हजारे का बहुत मजाक उड़ाते थे। तो उन्होंने कहा कि यह सिर्फ मुझे बदनाम करने के लिए कहा गया। साथ ही उन्होंने कहा कि अन्ना जैसे बुजुर्ग आदमी अनशन कर रहे हैं ये बड़ी बात है, भले ही वह ठंडे की डर से मुंबई भाग गए थे।

इसके अलावा लालू यादव ने कहा कि उन्होंने संसद अन्ना हजारे के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए में कहा था कि ‘ऑल इंडिया अन्ना बचाव स्वास्थ्य संघर्ष समिति’ बनाया जाए क्योंकि उनको बचा कर रखना जरूरी है। इसलिए उनके स्वास्थ्य का ख्याल करना होगा। उनके जैसा अनमोल धरोहर नहीं मिल सकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम सब को अन्ना जी से सीखना चाहिए कि वह कैसे 13 दिन तक अनशन करते हैं।