20 साल में खाद बनाने वाली कंपनी ने दिया जबरदस्‍त रिटर्न, एक लाख के बना दिए दो करोड़ रुपए

रामा फोसफेट्स लिमिटेड के शेयर ने निवेशकों को 20 साल में 197 गुना का रिटर्न दिया है। 2001 में कंपनी का शेयर दो रुपए भी नहीं था, जिसकी आज कीमत 300 रुपए से ज्‍यादा हो चुकी है। किसी ने 20 साल पहले एक लाख का निवेश किया होगा तो उसकी वैल्‍यू करीब 2 करोड़ रुपए हो चुकी होगी।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

यह बात गलत नहीं है कि लंबी अवधि‍ का निवेश कभी भी नुकसान दायक नहीं होता है। फिर चाहे वो निवेश पीपीएफ में करें या फ‍िर म्‍यूचुअल फंड या फ‍िर डायरेक्‍ट इक्‍व‍िटी मार्केट। जहां पर निवेशकों का रिस्‍क ज्‍यादा बड़ा होता है। इक्‍विटी मार्केट में भी लंबे समय तक निवेश बरकरार रखा जाए तो किसी निवेशक को उसके धैर्य का फल मीठा ही मिलता है। इसका जीता जागता उदाहरण है रामा फोसफेट्स लिमिटेड। जिसने 20 साल में 197 गुना का रिटर्न दिया है। खास बात तो ये है कि इन दौरान टाटा ग्रुप की किसी ने कंपनी ने इतना जबरदस्‍त रिटर्न नहीं दिया है। आइए आपको भी बताते हैं इस खास स्‍टॉक के बारे में।

20 साल में 197 गुना का रिटर्न
रामा फोस्‍फेट लिमिटेड के शेयरों ने निवेशकों को मालामाल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। आंकड़ों के अनुसार 20 साल पहले यानी 20 सितंबर को कंपनी का शेयर प्राइस 1.55 रुपए देखने को मिला था, जोकि आज बढ़कर 306 रुपए पर आ चुका है। इस दौरान कंपनी ने निवेशकों को 19642 फीसदी का रिटर्न दिया है। बीते एक साल की बात करें तो कंपनी बीएसई पर 424 फीसदी का उछाल ले चुकी है। जबकि इस साल कंपनी ने निवेशकों 225 फीसदी का रिटर्न दिया है। पांच साल में यह रिटर्न 410 फीसदी का देखने को मिल रहा है।

कैसे निवेश बने करोड़पति
निवेशकों को करोड़पति बनाने में रामा फोस्‍फेट ने किसी तरह की कोई कसर नहीं छोड़ी है। 20 साल पहले किसी निवेशक ने 1.55 रुपए के हिसाब से एक लाख रुपए का निवेश किया होगा तो उसकी वैल्‍यू आज के समय में उस निवेश की वैल्‍यू 2 करोड़ रुपए हो चुकी होगी। ऐसी काफी कम कंपनी हैं जिन्‍होंने 20 साल में एक लाख रुपए पर 2 करोड़ रुपए की कमाई कराई होगी।

टाटा ग्रुप की कोई कंपनी ऐसी नहीं
टाटा ग्रुप की कई ऐसी कंपन‍ियां जिन्‍होंने निवेशकों को अच्‍छा रिटर्न दिया है, लेकिन रामा फोस्‍फेट जैसा रिटर्न किसी ने नहीं दिया है। अगर बात टाटा स्‍टील की करें तो उसने 20 साल में 35 गुना का रिटर्न दिया है। वहीं टीसीएस और टाटा मोटर्स का भी रिटर्न रामा के मुकाबले काफी कम है।