30 हजार रुपए की सैलरी वाले भी ईएसआईसी के दायरे में आएंगे, इस योजना चल रहा है काम

मौजूदा समय में ईएसआईसी मेडिकल फैसि‍लिटी का लाभ 21 हजार रुपए पाने वालों को मिल रहा है। अगर इस योजना को अमलीजामा पहनाया जाता है तो 25 फीसदी अतिरिक्‍त कर्मचारियों को लाभ होगा।

ESIC Health Benefit ईएसआईसी की नई स्‍कीम कोविड पेंशन रिलीफ स्कीम में कोव‍िड से मौत होने वाली कर्मचारी की फैमिली को आजीवन पेंशन दी जाती है। (Express Photo by Amit Mehra)

सैलरीड क्‍लास के लोगों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। वास्‍तव में सरकार ईएसआईसी मेडिकल बेनिफ‍िट के दायरे में को बढ़ाने का विचार कर रही है। अब इस योजना के तहत 30 हजार रुपए सैलरी पाने वालों को ईएसआईसी की सुविधा दी जा सकती है। इस प्रस्‍ताव को अगले महीने होने वाली ईएसआईसी की बैठक में रखा जा सकता है। जिसके बाद इस प्रस्‍ताव में मोदी कैबिनेट में रखा जाएगा। आइए आपको भी बताते हैं कि इस पर किस तरह की योजना पर काम चल रहा है।

जानकारी के अनुसार इस प्रस्‍ताव को अगर पास कर दिया जाता है तो 20 से 25 फीसदी कर्मचारी इसमें कवर होंगे। ईएसआईसी बोर्ड की बोर्ड मीटिंग सितंबर में होने जा रही है। ईएसआईसी स्‍कीम में आने वाले कर्मचारियों और परिवारों को बेहतर इलाज मिल पाएगा।

इस तर‍ह के मिलते हैं बेनिफ‍िट

  • मौजूदा समय में ईएसआईसी स्‍कीम के मेंबर की सैलरी का 0.75 फीसदी पार्ट लिया जाता है।
  • इंप्‍लॉयर से 3.25 फीसदी पार्ट लिया जाता है।
  • स्कीम में 6 करोड़ कर्मचारी आते हैं।
  • मौजूदा समय में इस योजना के तहत, कर्मचारी की मौत होने पर दिए गए लाभों को बढ़ाया गया है।
  • ग्रेच्युटी के भुगतान के लिए न्यूनतम सेवा की जरूरत नहीं है।
  • ईपीएफ और एमपी अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार पारिवारिक पेंशन का भुगतान हो रहा है।
  • कर्मचारी के बीमार होने और कार्यालय न आने की स्थिति में साल में 91 दिनों के लिए बीमारी लाभ के रूप में कुल मजदूरी का 70 फीसदी का भुगतान होता है।

जानि‍ए क्‍या यह स्‍कीम
ईएसआईसी की नई स्‍कीम कोविड पेंशन रिलीफ स्कीम में कोव‍िड से मौत होने वाली कर्मचारी की फैमिली को आजीवन पेंशन दी जाती है। जिसकी मिनिमम अमाउंट 1800 रुपए प्रति माह से लेकर मृतक वर्कर के औसत दैनिक वेतन का 90 फीसदी तक हो सकता है। यह योजना 24 मार्च 2020 से दो वर्षों के लिए लागू की गई है।