4 लाख नौकरियां किन विभागों में दीं? प्रियंका गांधी का योगी सरकार से सवाल, पूर्व IAS ने भी घेरा

भाजपा ने ट्वीट कर योगी सरकार की ओर से 4 लाख नौकरियां देने का दावा किया। उनके इस दावे को लेकर प्रियंका गांधी ने सवाल किये, साथ ही पूर्व आईएएस ने भी तंज कसा।

priyanka ganddhi, cm yogi adityanath प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से किये सवाल (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें सरकार की ओर से युवकों को चार लाख नौकरियां देने का दावा किया गया। भाजपा ने अपने ट्वीट में लिखा, “श्रीमति वाड्रा जी 4,03,793, ये हड़पी हुई जमीन का क्षेत्रफल नहीं है। यूपी में भाजपा सरकार द्वारा दी गई नौकरियों की संख्या है।” भाजपा के इस ट्वीट को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ से सवाल किये, साथ ही ट्वीट कर तंज भी कसा। उनके अलावा पूर्व आईएएस सू्य प्रताप सिंह भी भाजपा द्वारा किये गए दावों को लेकर भड़के हुए नजर आए।

प्रियंका गांधी ने भाजपा के दावों पर तंज कसते हुए लिखा, “अगर उप्र सरकार ने ‘4 लाख’ नौकरियां दी हैं तो नौकरियों का ब्यौरा भी होगा। लेकिन सरकार से जवाब आया कि ऐसी कोई सूचना उपलब्ध नहीं है। विधानसभा सत्र चल रहा है, प्रदेश के युवा जानना चाहते हैं कि ‘4 लाख’ नौकरियां किन किन विभागों में कब दी गईं। बता दीजिए।”

भाजपा व यूपी सरकार को लेकर किया गया आईएएस सूर्य प्रताप सिंह का ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। अपने ट्वीट में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का जवाब देते हुए लिखा, “देख लो छात्रों, अब तुम्हारी छाती पर चढ़कर झूठ बोलेंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के 28,662 पद जो संविदा के हैं, वो कब से सरकारी नौकरी हो गई?”

सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट में आगे लिखा, “कृषि विभाग के 2059 पदों पर नियुक्ति कब हो गई? जब सरकार सदन में सो रही थी तब? SI 2016 की नियुक्ति कोर्ट में है। कृषि प्रावधिक सहायक 2059 को नियुक्ति पत्र ही नहीं मिलेग, जबकि 10 माह हो गए वेरिफिकेशन हुए। अधीनस्थ चयन सेवा आयोग ने इतनी नौकरियां कब दे दीं? जनता से छुपाकर नौकरी दे रहा है क्या आयोग?”

पूर्व आईएएस यहीं नहीं रुके। उन्होंने ट्वीट में आगे लिखा, “पुलिस भर्ती का आंकड़ा पूर्णत: फर्जी, 20 हजार से ज्यादा पद रिक्त हैं। इतना झूठ बोलोगे? सोशल मीडिया पर झूठ फैलाने के लिए एक पूरा महकमा काम कर रहा है, पर छात्रों को सड़क पर छोड़कर उनके घावों पर नमक छिड़कने का काम करने वाली सरकार को लगता है कि चुनाव ‘दुर्गेश चौधरियों’ की वजह से जीते थे। अब पानी सिर के ऊपर है।”

सूर्य प्रताप सिंह के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर ने भी खूब कमेंट किये। एक यूजर ने ट्वीट के जवाब में लिखा, “हम कृषि प्राविधिक सहायक के चयनित छात्र हैं। हमें अभी तक नियुक्ति नहीं मिली है। लेकिन दिखा दिया गया है। यह मानसिक प्रताड़ना है।” विक्रम सिंह नाम के यूजर ने लिखा, “कृषि विभाग के 2059 पद कृषि प्राविधिकों को अभी तक नियुक्ति नहीं मिली। ये सिर्फ कागज पर नौकरी दिए हैं, जमीनी हकीकत कुछ और है।”