8 महीने में चौथी बार हरियाणा में मिला 1.5 किलो RDX, पाकिस्तान कनेक्शन कॉमन

हरियाणा के कैथल में डेढ़ किलो RDX मिलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है. RDX के साथ डेटोनेटर और मैगनेट भी मिला है. बड़ी बात ये है कि एक बार फिर शक की सुई पाकिस्तान पर जा रही है. कहा जा रहा है ड्रोन के जरिए ये RDX भारत भेजे जाते हैं. अकेले हरियाणा में 8 महीने के अंदर ये चौथी ऐसी घटना है जहां पर पाकिस्तानी कनेक्शन की आशंका जाहिर की गई है. 

जानकारी के लिए बता दें कि सोमवार को कैथल में पुलिस को 1.5 किलो RDX मिला था. जब जांच को आगे बढ़ाया गया तो पता चला कि कैथल में उसी तरह से RDX प्लांट किया गया था, जैसे मार्च महीने में अंबाला में देखने को मिला था. असल में अंबाला में पुलिस को 1.50 किलो विस्फोटक मिला था, साथ में तीन लाइव हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए गए थे. अब उस समय भी ड्रोन वाली थ्योरी चल रही थी और अब कैथल मामले में भी ये जोर पकड़ रही है. दावा ये है कि पाकिस्तान के जरिए ड्रोन से विस्फोटक भारत भेजे जा रहे हैं. हरियाणा के अलावा पंजाब में भी लगातार ऐसे विस्फोटक मिल रहे हैं. कभी टिफिन बॉम के जरिए साजिश को अंजाम देने का प्रयास है तो कभी IED के जरिए दहशत फैलाने की कोशिश रहती है.

बीते कुछ महीनों पर नजर डालें तो पता चलता है कि ऐसी घटनाओं की संख्या बढ़ गई है. सबसे बड़ी साजिश का पर्दाफाश तो मई में हुआ था जब जांच एजेंसी ने चार आतंकियों को करनाल में गिरफ्तार किया था. उनके पास से भारी मात्रा में IED और दूसरे हथियार मिले थे. उन सभी आतंकियों का कनेक्शन पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा से सामने आ गया था. जांच एजेंसियों के मुताबिक अब कैथल वाले मामले में भी ऐसा ही ट्रेंड देखने को मिल सकता है जहां पर मास्टरमाइंड पाकिस्तान में बैठा कोई आतंकी सरगना हो. चिंता की बात तो ये है कि हरियाणा के जरिए इन विस्फोटकों को देश के दूसरे राज्यों में ले जाने की तैयारी रहती है.

पिछले मामलों में जो जांच की गई है, उसमें सामने आया है कि हरियाणा को सिर्फ ट्रांजिट रूट की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है. असल मकसद तो उन विस्फोटकों को कही और ट्रांसपोर्ट करना हो सकता है. वैसे अगस्त महीने में भी कुरुक्षेत्र जिले में 1.3 किलो RDX मिला था. तब पुलिस ने शमशेर सिंह नाम के शख्स को मौके से गिरफ्तार किया था, उसी पर IED प्लांट करने का आरोप था. अब बड़ी बात ये है कि मई वाली घटना में सीधे तौर पर पाकिस्तानी कनेक्शन साबित कर दिया गया था, लेकिन बाकी मामलों में अभी सिर्फ ऐसा अंदेशा जताया जा रहा है.

अब अगर हरियाणा में RDX बरामद हो रहे हैं तो पंजाब में टिफिन बम ने चिंता बढ़ाई है. पिछले साल सितंबर में पंजाब पुलिस ने एक बड़े टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. उस ग्रुप का नाम था खालिस्तान टाइगर फोर्स. इस संगठन के तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इनके पास से टिफिन बम तो मिला ही था, इसके अलावा 2 पिस्टल, ग्रेनेड और एक पूरा पैकेट विस्फोटक का मिला था. अब उस मामले में दावा ये हुआ ये टिफिन बम पाकिस्तान में बनाए गए थे.