Anupama: बा-बापूजी ने अभी तक शादी नहीं की? सुनकर हैरान हुआ अनुज! बोला- लिव-इन में थे? ऐसे भड़की अनुपमा

ANUPAMA: अनुपमा अपने परिवार को मुसीबतों से बचाने के लिए पूरा जोर लगा रही है। ऐसे में मुश्किल हालातों के बीच अपने परिवार के चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट लाने के लिए अनुपमा घर में सेलिब्रेशन करवा रही है।

Anupama, Ba Bapuji, Anuj, Anupama, अनुपमा शो, शो अनुपमा में रुपली गांगुली (फोटो सोर्स- इंस्टा फैनपेज अनुपमा)

शो अनुपमा में बा और बापूजी के मुश्किल समय के खत्म होने के बाद अब फिर से खुशियां लौट आई हैं। हालांकि अभी ‘काव्या’ काल अभी टला नहीं है। हालांकि अनुपमा अपने परिवार को मुसीबतों से बचाने के लिए पूरा जोर लगा रही है। ऐसे में मुश्किल हालातों के बीच अपने परिवार के चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट लाने के लिए अनुपमा घर में सेलिब्रेशन करवा रही है। ये सेलिब्रेशन है बा-बापू जी की 50 वीं सालगिरह की खुशी में। ऐसे में अनुपमा अपने परिवार के साथ मिलकर बा और बापूजी के लिए सरप्राइज तैयार कर रहे हैं। अनुपमा चाहती है कि बा-बापूजी की दोबारा शादी कराई जाए।

हालांकि बा-बापूजी का कहना है कि इतना पैसा क्यों खर्च करना। लेकिन अनुपमा का मानना है कि पिछले दिनों जो भी बा-बापूजी के बीच हुआ उसे भुलाने के लिए ये होना चाहिए। इससे दोनों उस वक्त को भुला पाएंगे। अब इस बारे में अनुपमा अनुज से भी डिसकस करती है। अनुपमा कहती है- ‘बा और बापूजी शादी कर रहे है परसों।’

ये सुनते ही अनुज कहता है- ‘बा और बापूजी ने अभी तक शादी नहीं की है, इतने सालों से वो लिव इन में रह रहे थे और दो बच्चे भी कर लिए कमाल है।’ ऐसे में अनुपमा गुस्साते हुए कहती हैं- ‘कैसी बातें कर रहे हैं आप कुछ भी कह रहे हैं। अरे बा और बापूजी की शादी की 50वीं सालगिरह है। ऐसे टाइम पर दोबारा शादी कराते हैं ना।’

ANUPAMA: अनुपमा अपने परिवार को मुसीबतों से बचाने के लिए पूरा जोर लगा रही है। ऐसे में मुश्किल हालातों के बीच अपने परिवार के चेहरे पर हल्की सी मुस्कुराहट लाने के लिए अनुपमा घर में सेलिब्रेशन करवा रही है।

अनुज को तब समझ आता है- ‘अच्छा तुम वेडिंग एनिवर्सरी की बात कर रही हो, गोल्डन जुबली। तो ऐसा कहो ना, थैंक गॉड सो मच।’ इस दौरान अनुज काफी एक्साइटेड और इमोशनल भी हो जाता है क्योंकि उस पल में अनुपमा खुश होती है तो अनुपमा के स्माइल करते फेस को देख कर वह भी बहुत खुश हो जाता है। ये देख कर अनुपमा और अनुज के बीच ऑकवर्ड सिचुएशन हो जाती है। अनुपमा बात संभालने के लिए कहती है कोई बात नहीं। बता दें, अनुपमा भी अनुज को पसंद करने लगी है। जब बापूजी ने अनुपमा को इजाजत दी थी और सोचने पर मजबूर किया था, जब जाकर अनुपमा ने अनुज के बारे में सोचना शुरू किया था। हालांकि वह अभी भी इस बात को मानने से कतरा रही है कि उसे अनुज पसंद है। वहीं अनुज तो डंके की चोट पर कहने लगा है कि हां मैं अनुपमा से प्यार करता हूं।

इधर, वीर को काव्या का असली रूप समझ आ गया है तो उसे अनुपमा की कीमत का अंदाजा हो रहा है। ऐसे में जब जब वीर अनुज को अनुपमा के साथ देखता है तो उसे गुस्सा आ जाता है। वहीं अनुपमा के साथ हंस हंस कर बात करना वीर को अच्छा लगने लगा है। यह नजारा देख काव्या सड़ रही है। क्या होगा आगे- क्या काव्या का पत्ता साफ होने के बाद वीर दोबारा अनुपमा की जिंदगी में आएगा? लेकिन अगर अनुपमा ने अनुज को अपना लिया फिर? कहानी यहां सुलझेगी या उलझेगी, ये जानना काफी इंट्रस्टिंग है।