BJP “यूज एंड थ्रो” वाली पार्टी, कल तक मुस्लिमों पर बौखलाते थे, आज उन्हीं के पीछे भाग रहे- NDA के पूर्व पार्टनर का निशाना

ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ‘भाजपा को कभी समर्थन नहीं देंगे। बिल्ली गरम दूध पीते समय जल जाती है तो फूक -फूक कर पीती है। ये भाजपा “यूज एंड थ्रो” वाली पार्टी है। कल तक मुसलमानों पर बौखलाते थे, आज उन्हीं के वोट के पीछे भाग रहे हैं।”

Om Prakash Rajbhar,Om Prakash Rajbhar Photos,Om Prakash Rajbhar Videos,Om Prakash Rajbhar News Headlines, Shikhar Sammelan, शिखर सम्मेलन, shikhar sammelan abp news, abp news shikhar sammelan 2021, shikhar sammelan 2021, up elections 2022 latest news, jansatta UP election: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी पर निशाना साधा है। (express file photo)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे पास आ रहे हैं राज्य में सियासी पारा चढ़ रहा है। सभी राजनीतिक दल अपने-अपने तरीके से इसकी तैयारियों में जुट गए हैं और अपने गठबंधन को मजबूत कर रहे हैं। इसी बीच ‘एबीपी न्यूज़’ से बात करते हुए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर निशाना साधा।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से पूछा गया कि अखिलेश, योगी और मायावती में सबसे अच्छी सरकार किसने चलाई। इसपर ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ‘मायावती ने सबसे अच्छी सरकार चलाई। आज जो अधिकारी योगीजी को पाठ पढ़ा रहे हैं। वो खुद कांपते थे और हनुमान चालीसा पढ़ते थे।” इसपर पत्रकार ने पूछा कि चुनाव के बाद अगर बीजेपी को 2-4 सीटें कम पड़ गई तो क्या आप उन्हें समर्थन देंगे?

सवाल का जवाब देते हुए ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ‘कभी नहीं। बिल्ली गरम दूध पीते समय जल जाती है तो फूक -फूक कर पीती है। ये भाजपा “यूज एंड थ्रो” वाली पार्टी है। कल तक मुसलमानों पर बौखलाते थे, आज उन्हीं के वोट के पीछे भाग रहे हैं।”

यूपी चुनाव में गठबंधन के सवाल पर ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ‘हमारी पार्टी किसके साथ गठबंधन करेगी, ये 7 सितंबर के बाद निर्णय कर लिया जाएगा। हम या तो अखिलेश यादव या मायावती या कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। हमारी पहली प्राथमिकता कांग्रेस है। आज देश की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी को भी कांग्रेस से डर है।’

राजभर ने आगे कहा, ‘बीजेपी सरकार पिछड़ों के साथ भेदभाव करती है। बीजेपी की मीटिंग में योगी, राजनाथ सिंह, अमित शाह सौफे पर बैठते हैं और केशव प्रसाद मौर्या को प्लास्टिक की कुर्सी पर बैठाया जाता है। क्योंकि केशव प्रसाद मौर्या पिछड़ी जाति से हैं।’