CCTV के मामले में दिल्ली ने न्यूयॉर्क-लंदन को पीछे छोड़ा- बोले केजरीवाल, कांग्रेस नेता का जवाब- ये किसी काम नहीं आए

सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में लगे सीसीटीवी कैमरों को लेकर ट्वीट किया। उनके इस ट्वीट का जवाब देते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, “किसी काम के नहीं हैं।”

Aam Adami Party, Delhi Election दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल (फाइल फोटो – पीटीआई)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में लगे सीसीटीवी कैमरों को लेकर ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमरों के मामले में दिल्ली ने शंघाई, लंदन व न्यूयॉर्क को भी पीछे छोड़ दिया है। अपने ट्वीट में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखा, “दिल्ली में प्रति स्क्वायर माइल के हिसाब से 1826 कैमरे लगे हैं, जबकि लंदन में यह संख्या मात्र 1138 की है। मिशन मोड में काम करने वाले हमारे अधिकारियों और इंजीनियरों को मेरी बधाई, जो इतने कम समय में उन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है।” सीएम केजरीवाल के इस ट्वीट को लेकर अब कांग्रेस नेता अलका लांबा ने उन्हें जवाब दिया है।

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तंज कसते हुए दिल्ली में हो रहे अपराधों का भी जिक्र किया। उन्होंने लिखा, “सर जी दिल्ली में सरे आम दो नाबालिग बेटियों के साथ हाल ही में बलात्कार हुए। महिलाओं के साथ छीनाझपटी के मामलों में भी बढ़ोत्तरी हुई। आप के कैमरे दिल्ली में अपराध रोकने या अपराधियों तक पहुंचने में किसी काम नहीं आए।”

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्वीट में आगे लिखा, “कागजों पर आप अपनी पीठ खुद ही थपथपाते रहिए।” कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर आम लोगों ने भी सहमति जताई। नील नाम के यूजर ने लिखा, “सही विश्लेषण किया आपने, दिल्ली में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। इनमें केंद्र और राज्य सरकार दोनों की नाकामयाबी दिख रही है।”

आसिफ नाम के यूजर ने अलका लांबा के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “केजरीवाल सर केवल प्रचार पर ध्यान देते हैं।” दलजीत नाम के यूजर ने कांग्रेस नेता के ट्वीट पर चुटकी लेते हुए लिखा, “आप गलत समझ रहे हैं। सीसीटीवी लगवाए हैं, पर आप उन्हें इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।”

बता दें कि कांग्रेस नेता अलका लांबा ने केंद्र सरकार की राष्ट्रीय मुद्रीकरण योजना को लेकर भी ट्वीट किया था, जिसके कारण वह काफी सुर्खियों में आ गई थीं। अपने ट्वीट में उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए लिखा था, “देश बदलने की बात करने वाले आज देश बेचने में लगे हुए हैं।”