CJI बोले, नहीं चल पाएगी अंग्रेजों के जमाने की न्याय व्यवस्था, अब भारतीयकरण जरूरी है

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमना ने कहा कि भारत की न्याय व्यवस्था बहुत पुरानी है और समय के हिसाब से अब इसमें परिवर्तन की जरूरत है। इसका भारतीयकरण जरूरी हो गया है।

CJI ramana, parliament session भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना (फोटो- Indian express)

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) एनवी रमना ने शुक्रवार को कहा कि अब भारत की न्याय व्यवस्था का भारतीयकरण करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अब तक जो अंग्रेजों के जमाने की व्यवस्था चली आ रही है वह भारत की जनसंख्या के हिसाब से काम नहीं कर पाएगी। उन्होंने कहा, ‘कई बार आम आदमी को न्याय के लिए कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। भारत की परिस्थितियों के हिसाब से अदालतों की कार्य शैली मेल नहीं खाती है।’

CJI ने कहा कि समय की मांग है कि कानून व्यवस्था का भारतीयकरण किया जाए। वह कर्नाटक बार काऊंसिल के एक कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे।