Covid-19: इरफान पठान ने दिखाया बड़ा दिल, सोशल मीडिया की कमाई करेंगे दान; भाई यूसुफ के साथ मिलकर 90 हजार परिवारों की कर रहे मदद

इरफान और उनके बड़े भाई यूसुफ पठान ने 90 हजार परिवारों को भोजन और जरूरी सामान देकर मदद की है। इसके अलावा पठान क्रिकेट अकादमी ने दक्षिणी दिल्‍ली में कोविड प्रभावित लोगों को मुफ्त भोजन भी उपलब्ध कराया।

Irfan Pathan

कोरोना से लड़ाई में कई क्रिकेटर मदद के लिए आगे आए हैं। अब उस लिस्ट में भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान का नाम भी जुड़ गया है। पठान ने बड़ा दिल दिखाते हुए सोशल मीडिया से होने वाली सारी कमाई को दान करने का फैसला किया है। पठान हाल ही में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत से भिड़ने के कारण चर्चा में थे। इजरायल- फिलिस्तीन विवाद पर कंगना और पठान में सोशल मीडिया पर बहस हो गई थी।

पठान इस मुश्किल समय में लोगों का हौसला बढ़ाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। वह और उनके भाई यूसुफ पठान देश में महामारी फैलने के बाद से संघर्षरत लोगों और यहां तक कि फ्रंटलाइन वर्कर्स की हर संभव मदद कर रहे हैं। अब इरफान ने सोशल मीडिया अभियानों से अर्जित सभी धन को दान में देने का फैसला किया है। इरफान और उनके बड़े भाई यूसुफ पठान ने 90 हजार परिवारों को भोजन और जरूरी सामान देकर मदद की है।

इसके अलावा पठान क्रिकेट अकादमी ने दक्षिणी दिल्‍ली में कोविड प्रभावित लोगों को मुफ्त भोजन भी उपलब्ध कराया। यहां तक कि उनके पिता महमूद खान पठान भी अपने चैरिटेबल ट्रस्ट के जरिए वडोदरा में कोविड-19 के मरीजों को खाना मुहैया कराते रहे हैं। पिछले साल महामारी के दौरान पठान बंधुओं ने जरूरतमंदों को भोजन दान किया था। साथ ही वडोदरा में लगभग 4000 मास्क वितरित किए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि लोग सुरक्षित रहें। उन्होंने वडोदरा पुलिस को लॉकडाउन के दौरान अपने प्रयासों के लिए धन्यवाद के रूप में विटामिन सी की गोलियां भी दी थीं।

पठान ने इजरायल-फिलिस्तीन विवाद को लेकर ट्वीट किया था। उन्होंने फिलीस्तीन का समर्थन किया था। ट्विटर से बैन होने वाली कंगना ने इंस्टाग्राम स्टोरी में पठान पर निशाना साधा। उन्होंने मंगलवार को लिखा था, ‘‘अगर आपमें जरा सी भी मानवता है तो आप जो फिलिस्तीन में जो हो रहा है उसका समर्थन नहीं करेंगे।’’ कंगना ने लिखा, ‘‘पूरी दुनिया में मुस्लिम अपने इस्लाम के लिए हमास के जिहादी और आंतकवादियों के साथ खड़े हो रहे हैं। लेकिन हिंदू और मुस्लिम बंगाल में हिंदुओं के नरसंहार पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। ये इन जयचंदों की वास्तविकता है।’’ पठान ने कंगना को मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने कहा कि उनके ट्वीट सिर्फ मानवता और देशवासियों के लिए होते हैं।