EVM पर थमा नहीं बवाल अब रिमोट वोटिंग की तैयारी, चुनाव आयोग ने संसदीय पैनल को बताया, राजनीतिक दल सहमत

रिमोट वोटिंग के जरिए चुनाव आयोग ऐसी योजना है कि जिससे घर से दूर रहने वाले लोग भी वोट डाल सकेंगे। इसके लिए चुनाव आयोग ने अलग अलग राज्यों में बसे प्रवासी लोगों की आबादी का सही आंकड़ा प्राप्त करने की भी योजना बनाई है।

EVM Voting line,Election प्रतीकात्मक तस्वीर

ईवीएम पर राजनीतिक दलों द्वारा उठाये जा रहे सवालों के बीच अब चुनाव आयोग रिमोट वोटिंग की तैयारी कर रहा है। इसके चलते लोग लोग अपने घरों से दूर रहते हुए भी अपना वोट डाल सकेंगे। बता दें कि भारतीय चुनाव आयोग के गुरुवार को एक संसदीय पैनल को बताया कि भारत में रिमोट वोटिंग के लिए राजनीतिक सहमति ही आगे का रास्ता है।

जानकारी के मुताबिक चुनाव पैनल के अधिकारियों ने व्यक्तिगत, लोक शिकायत, कानून और न्याय पर स्थायी समिति के सामने एक पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन दिया। जिसकी अध्यक्षता भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने की। बैठक में विधायी विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

रिमोट वोटिंग को लेकर हुई बैठक के दौरान अधिकारियों ने इस प्रक्रिया और रिमोट वोटर की अवधारणा, रिमोट वोटिंग का अंतरराष्ट्रीय अनुभव, भारत में वर्तमान रिमोट वोटर, रिमोट वोटिंग के लिए जरूरी तकनीक व प्रशासनिक कानूनी मुद्दों को लेकर बताया। उन्होंने रिमोट वोटिंग के संपादन में आने वाली समस्याओं पर भी चर्चा की।

द इंडियन एक्सप्रेस को सरकारी अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार प्रवासी आबादी का आंकड़ा उपलब्ध होने के आधार पर भविष्य में रिमोट वोटिंग मशीन अलग-अलग जगहों पर रखी जाएगी। जिसकी मदद से अपने निर्वाचन क्षेत्र में रहने की की दशा में भी लोग अपना वोट डाल सकें।