FD जैसा ही होता है NCD, 24 माह के इन्वेस्टमेंट पर मिल सकता है 8.25% ब्याज

नॉन कनवर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) फिक्स इनकम इंस्ट्रूमेंट होते हैं और आमतौर पर इन्हें बड़ी कंपनियां जारी करती हैं। इनके जरिए लाभ पाने का बढ़िया होता है। यह कुछ हद तक फिकस्ड डिपॉजिट (एफडी) जैसे होते हैं, जबकि इनसे 24 महीने के निवेश पर 8.25 फीसदी तक ब्याज पाया जा सकता है। आप इस वक्त दो […]

savings, bank news, utility news तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

नॉन कनवर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) फिक्स इनकम इंस्ट्रूमेंट होते हैं और आमतौर पर इन्हें बड़ी कंपनियां जारी करती हैं। इनके जरिए लाभ पाने का बढ़िया होता है। यह कुछ हद तक फिकस्ड डिपॉजिट (एफडी) जैसे होते हैं, जबकि इनसे 24 महीने के निवेश पर 8.25 फीसदी तक ब्याज पाया जा सकता है।

आप इस वक्त दो कंपनियां में इस वक्त निवेश कर अच्छा लाभ पा सकते हैं। ये दोनों इंडिया इंफोलाइन (IIFL) और जेएम फाइनेंशियल ने एनसीडी लेकर आई हैं। आईआईएफएल का एनसीडी 18 अक्टूबर को बंद होगा, जबकि जेएम वाला 14 अक्टूबर को क्लोज होगा। वैसे, ध्यान देने वाली बात है कि ऐसे इन्वेस्टमेंट में जोखिम भी होता है, जो कि पूरी तरह से बाजार पर निर्भर करता है। ऐसे में निवेश से पहले वित्तीय सलाहकार या इस मसले के जानकार से परामर्श के बाद ही इस बाबत आगे बढ़ना चाहिए।

वित्तीय सलाहकारों के मुताबिक, “इन्वेस्टर्स अपने निवेश का 10 से 20 फीसदी हिस्सा पांच साल के लिए इन्वेस्ट कर सकते हैं।” जेएम फाइनैंशियल ने इस्वेस्टमेंट के लिए 39 माह, 60 माह और 100 माह का वक्त रखा है। 60 माह पर वह 8.2 फीसदी और 100 माह पर 8.3 प्रतिशत ब्याज दिया जाएगा।

वहीं, आईआईएफएल फाइनेंस 24 माह के निवेश पर 8.25 प्रतिशत, 36 महीने के इन्वेस्टमेंट पर 8.5 फीसदी और 60 माह के निवेश पर 8.75 ब्याज देगी। अच्छी बात यह है कि इन दोनों ही कंपनियों की ब्याज दर बैंकों की एफडी के मुकाबले 70 से 80 फीसदी ज्यादा है।