Google Doodle: कौन थीं ग्रीन टी पर रिसर्च करने वाली मिशियो सुजिमुरा, गूगल ने भी खास डूडल बनाकर किया याद

Michiyo Tsujimura (मिशियो सुजिमुरा) Google Doodle: सुजिमुरा को ग्रीन टी पर उनके रिसर्च के लिए 1956 में कृषि विज्ञान के जापान पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Michiyo Tsujimura, google doodle, google doodle today, green tea, green tea research, Michiyo Tsujimura research, Michiyo Tsujimura google doodle, japan scientist 1922 में मिशियो सुजिमुरा को टोक्यो इम्पीरियल यूनिवर्सिटी में ट्रांसफर कर दिया गया था।

Michiyo Tsujimura (मिशियो सुजिमुरा) Google Doodle: ग्रीन टी पर रिसर्च करने वाली जापानी साइंटिस्ट मिशियो सुजिमुरा को उनकी 133वीं जयंती पर आज, शुक्रवार 17 सितंबर को Google ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया। मिशियो सुजिमुरा के 133वें जन्मदिन का जश्न मनाते हुए Google डूडल में उन्हें ग्रीन टी के रासायनिक घटकों का अध्ययन और उन्हें निकालते हुए दिखाया गया है। ‘गूगल’ के अक्षरों को बनाने के लिए कई तरह के शोध घटक जैसे चाय की झाड़ी, एक कप ग्रीन टी, एक पेन, एक फ्लास्क और एक नोटपैड का इस्तेमाल किया गया।

17 सितंबर, 1888 को, मिशियो सुजिमुरा का जन्म जापान के सैतामा प्रान्त के ओकेगावा शहर में हुआ था। त्सुजिमुरा को स्कूल में रहते हुए साइंटिफिक रिसर्च में अपना करियर बनाने के लिए प्रेरित किया गया था। सुजिमुरा के स्नातक होने के बाद, उन्होंने 1920 में होक्काइडो इंपीरियल यूनिवर्सिटी जाने से पहले महिलाओं के लिए दो अलग-अलग स्कूलों में पढ़ाया। जब उन्होंने होक्काइडो इंपीरियल यूनिवर्सिटी में एक अवैतनिक प्रयोगशाला सहायक के रूप में काम किया, तो उनका शोध रेशम के कीड़ों के पोषण मूल्य पर केंद्रित था।

1922 में मिशियो सुजिमुरा को टोक्यो इम्पीरियल यूनिवर्सिटी में ट्रांसफर कर दिया गया था, लेकिन वह जिस लैब में काम कर रही थी, वह 1923 के विनाशकारी भूकंप के दौरान बर्बाद हो गई थी। उस आपदा से उबरने के बाद, सुजिमुरा एक अन्य लैब में काम करने के लिए चली गईं, जो कृषि के एक डॉक्टर डॉ. उमेतारो सुजुकी के अधीन काम करने के लिए चली गईं, जिन्होंने विटामिन बी 1 की खोज की थी।

UPSC: डॉक्टर निधि ने सेल्फ स्टडी से पहले ही प्रयास में पास किया यूपीएससी का एग्जाम

इस लैब में काम करते हुए, मिशियो सुजिमुरा और उनके सहयोगी सीतारो मिउरा ने ग्रीन टी को विटामिन सी का एक प्राकृतिक स्रोत के रूप में खोजा। उनके शोध के कारण, उत्तरी अमेरिका में निर्यात की जाने वाली ग्रीन टी की मात्रा में बढ़ोतरी हुई।

सुजिमुरा को ग्रीन टी पर उनके रिसर्च के लिए 1956 में कृषि विज्ञान के जापान पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। 1968 में, उन्हें ऑर्डर ऑफ़ द प्रीशियस क्राउन ऑफ़ द फोर्थ क्लास से सम्मानित किया गया। मिशियो सुजिमुरा का 1 जून 1969 को 80 साल की आयु में निधन हो गया। आज ओकेगावा में एक पत्थर का स्मारक है जो उनकी महान उपलब्धियों का जश्न मनाता है।

UPSC: संघर्षों में गुज़ारा बचपन और फिर पकड़ी ऑक्सफोर्ड की राह, विदेश की नौकरी छोड़ इल्मा ऐसे बनीं IPS ऑफिसर